इरफ़ान और युसूफ पठान के लिए क्रिकेट रहा है बहुत मुश्किल, वजह आप सोच भी नहीं सकते

शेयर करें

अभी काफी दिनों से इरफ़ान पठान अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में नजर नहीं आरहे हैं ! बहुत लम्बा समय हो गया है जब से आपने उन्हें क्रिकेट खेलते नहीं देखा होगा और खुद इरफ़ान पठान एक इंटरव्यू में हाल ही में इस बात को अपने मुंह से कह चुके है कि वो इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी वापसी करने के लिए बहुत जोखिम भरी कंडीशन में है !

ऐसा इसलिए भी क्योकि अभी जो बडौदा में रणजी ट्रोफी 2017-18 में जो मैच होना है उसने उन्हें एक बड़ा झटका दिया है ! वैसे ये भी बता दें कि इस मैच में इरफ़ान को पूरे सीजन के लिए बडौदा टीम के कप्तान के रूप में चुना गया था !

लेकिन इरफ़ान के साथ हुआ ये कि यहाँ रणजी ट्रोफी में उनका प्रदर्शन कुछ अच्छा न होने की वजह से बाहर कर दिया गया ! इरफ़ान ने यूसुफ़ पठान के साथ साझेदारी में 80 रन बनाकर सम्मिलित रूप से 188 रन बनाये ! दूसरी पारी में हालाँकि युसूफ ने तो 136 रन बनाये लेकिन इरफ़ान का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा और उन्होंने केवल 4 रन ही बनाये !

दोनों भाइयों की किस्मत चल रही ख़राब

लेकिन शायद इन दोनों भाइयों का लक ही ख़राब चल रहा है तब ही इस सीजन में मध्य्प्रदेश के खिलाफ शुरू में ही 2 शतक बनाने के बाद भी अभी जो त्रिपुरा के साथ मैच है उससे युसूफ बाहर हो गये हैं ! बाहर होना का कारण हालाँकि उनका परफोर्मेंस नहीं बल्कि उन्हें टाइफाड हो जाना है !

वहीँ इस  मामले में अगर हम मीडिया रिपोर्ट्स को देखते हैं तो ऐसी खबरें सामने आरही हैं कि बडौदा क्रिकेट संघ के सचिव प्रभारी ने इस बारे में बयान देते हुए कहा कि ये सारा फैसला टीम सेलेक्ट करने वाली समिति का है और उन्होंने टीम के पुनर्निर्माण का फैसला लिया है !

बडौदा ने अभी तक इस सीरिज में २ मैच खेले हैं जिनमे मप्र को 8 विकेट से हराया है और आंध्रा के खिलाफ अभी खेल रहे हैं ! ग्रुप सी के लिए पॉइंट्स टेबल में बडौदा एक पॉइंट से नीचे है !

इरफ़ान ने इस बारे में कहा ये सब

इरफ़ान पठान ने इस बारे बात करते हुए बताया कि उन्होंने इस सीजन का आगाज किया है और वो इसके लिए सब कर रहे हैं और साथ ही उनको ऐसी उम्मीद भी है कि वो भविष्य में अपना सपना पूरा कर सकेंगे ! उनका कहना है कि ये सीजन बहुत महत्वपूर्ण होने जा रहा है और वो ये भी जानते है कि वो बहुत जोखिम भरी कंडीशन में है !

वहीँ अन्दर की खबर ये है कि बीसीए के अधिकारी न तो इरफ़ान की परफॉर्मेंस से खुश हैं और न ही उनके कप्तान के तौर पर किये जा रहे नेतृत्व से !


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े