इस्लाम को लेकर फैली गलत धारणा को तोड़ने के लिए चीन ने उठाया ये बड़ा कदम

इस्लाम को लेकर इस दुनिया में लोगों ने बहुत सी गलत धारणाएं बना रखी हैं जो असल  इस्लाम से मेल नहीं खाती हैं । दिक्कत यहाँ है कि लोगों ने असल इस्लाम को पढ़ा नहीं नहीं और न ही जाना है और अपनी राय सिर्फ दुसरो को सुनकर ही बना ली है जबकि राय किसी चीज को पूरी तरह जानकर और समझकर बनाई जानी चाहिए ।

चीन ने इस मामले में बहुत ही गजब का कदम उठाया है और जो आजकल सोशल मीडिया पर ज्यादातर प्रयोग होने वाला शब्द ‘इस्लामोफोबिक’ है और इसके जैसे जितने भी मिलते जुलते शब्द हैं उनके इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक लगा दी है ।

इस्लाम के प्रति भेदभाव को रोकने के लिए है कदम

अगर इस मामले हम चीन की मीडिया का रुख करते हैं और उनकी रिपोर्ट्स देखते हैं तो हमें पता चलता है कि चीन ने इस्लाम के प्रति लोगों में जो भेदभाव है उसको रोकने के लिए ये साहसिक कदम उठाया है । चीन की पूरी आबादी 1.39 अरब है और इसमें मुस्लिमों की संख्या 2.1 करोड़ से भी ज्यादा है ।

अगर हम इस मामले में गैर-सरकारी आंकड़ों पर नजर करते हैं तो देखते हैं कि ज्यादातर आबादी शिनजियांग में और हुई समुदाय निग्जिया प्रान्त में रहता है । चीन के सरकारी अख़बार ने इस बात की पुष्टि की है कि चीन ने वहां के इन्टरनेट यूजर्स द्वारा मुस्लिमों की गलत इमेज बनाने के लिए प्रयोग किये जाने वाले लफ्ज़ ‘इस्लामोंफोबिक’ को सोशल साइट्स से पूरी तरह बैन कर दिया है ।

चीन के बहुत से यूजर्स इसका विरोध कर रहे हैं

जहाँ एक ओर इस कदम की सब प्रशंसा कर रहे हैं वहीँ दूसरी ओर वहां के कई यूजर्स ऐसे हैं जो इसकी निंदा करते हुए कहा रहे हैं कि ये सब मुस्लिमों के तुष्टिकरण के लिए किया जा रहा है ।

आपको ये भी बता दें कि फेसबुक,ट्वीटर और गूगल जैसे जैसी वेबसाईट चीन ने पहले ही अपने यहाँ बैन कर रखी हैं । एक रिपोर्ट तो ये कहती है कि अभी के कुछ नजदीकी वक़्त में मुस्लिमों  के साथ हो रहे भेदभाव पर चीन में व्याप्त असंतोष अब सामने आया है ।

वहीँ दूसरी ओर ये भी है कि शिनजियांग प्रान्त में जो उइगर समुदाय के अल्पसंख्यक है वो बहुत ज्यादा हिंसक घटनाओ में लिप्त है और लोग उनसे परेशान है । बहुत  से लोग इसकी वजह से मरे भी हैं ।

इन लोगों ने सरकारी संस्थाओ तक पर हमले किये हैं । यहाँ आतंकवाद को कुछ लोग बढ़ावा दे रहे है । चीन उइगर लोगों को भड़काने के लिए पाकिस्तान पर आरोप लगाता है ।

देखिये वीडियो:-

Source:http://vipaksh.in/VIN/67/china-on-islam/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े

पोपुलर खबरें