विडियो: हिन्दू महिला ने बोले आज़ान के बोल तो झूम उठे लोग, देखें और शेयर करें

आपने अज़ान की आवाज़ और बोल तो सुने ही होंगे लेकिन क्या कभी किसी हिन्दू महिला को इतनी खूबसूरती के साथ अज़ान करते देखा है जैसा आप नीचे दिए विडियो में देखेंगे? शायद नही, ये विडियो सोशल मीडिया में एकता के मिसाल के तौर पर वायरल हो रहा है |

शुरुआत में आपको श्री श्री रवि शंकर प्रसाद की तस्वीर नज़र आएगी | देखने में लगता है की ये कार्यकर्म रवि शंकर प्रसाद का ही है| हालाँकि वायरल इन इंडिया इस बात की पुष्टि नही करता की ये विडियो वही का है |

बज्ज फीड की खबर के मुताबिक “यह आवाज वाकई सुकून देने वाली है, सोशल  मिडिया पर वायरल होने के बाद इस वीडियो पर लोगों की अलग अलग प्रतिकिर्याएं मिलना शुरू हुई जिनमे ज्यादातर लोगों ने इस वीडियो को सुनकर इस की तारीफ की और वीडियो को शेयर भी किया|

महिला विडियो में जो गाना गा रही है वो “दिल मे गूँजे है अल्लाहहु” सुनने में बहुत ही खुबसुरत है | महिला विडियो में जो गाना गा रही है वो “दिल मे गूँजे है अल्लाहहु” सुनने में बहुत ही खुबसुरत है | महिला की पोशाक एक हिन्दू साध्वी की है और वो वाकई खुबसूरत नज़र आ रही है |

सोनू निगम जैसे गायकों के लिए भी है ये विडियो

सोनू निगम सरीखे गायकों को इसे ज़रूर सुनना चाहिए जो हाल ही में कहते नज़र आये थे की अज़ान की आवाज़ से नींद में खलल डलती है और ये गुंडागर्दी है | अज़ान को अब तक आपने एक पुरुष की आवाज़ में ही सुना होगा लेकिन इस सुनने के बाद आप एक महिला की आवाज़ से भी सुनना पसंद करेंगे |

देखिये वीडियो:-

अज़ान का इतिहास


मदीना में जब सामूहिक नमाज़ पढ़ने के मस्जिद बनाई गई तो इस बात की जरूरत महसूस हुई कि लोगों को नमाज़ के लिए किस तरह बुलाया जाए, उन्हें कैसे सूचित किया जाए कि नमाज़ का समय हो गया है| मोहम्मद साहब ने जब इस बारे में अपने साथियों सहाबा से राय मश्वरा किया तो सभी ने अलग अलग राय दी।

किसी ने कहा कि प्रार्थना के समय कोई झंडा बुलंद किया जाए। किसी ने राय दी कि किसी उच्च स्थान पर आग जला दी जाए। बिगुल बजाने और घंटियाँ बजाने का भी प्रस्ताव दिया गया, लेकिन मोहम्मद साहब को ये सभी तरीके पसंद नहीं आए।

रवायत है कि उसी रात एक अंसारी सहाबी हज़रत अब्दुल्लाह बिन ज़ैद ने सपने में देखा कि किसी ने उन्हें अज़ान और इक़ामत के शब्द सिखाए हैं। उन्होंने सुबह सवेरे पैगंबर साहब की सेवा में हाज़िर होकर अपना सपना बताया तो उन्होंने इसे पसंद किया और उस सपने को अल्लाह की ओर से सच्चा सपना बताया।

पैगंबर साहब ने हज़रत अब्दुल्लाह बिन ज़ैद से कहा कि तुम हज़रत बिलाल को अज़ान इन शब्‍दों में पढ़ने की हिदायत कर दो, उनकी आवाज़ बुलंद है इसलिए वह हर नमाज़ के लिए इसी तरह अज़ान दिया करेंगे। इस तरह हज़रत बिलाल रज़ियल्लाहु अन्हु इस्लाम ने पहली अज़ान कही।

सोर्स:http://buzzy-feed.com/hindu-women-allah-allah/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े

पोपुलर खबरें