Business

भारत ने बनाया ऐसा ‘इस्लामिक मोबाइल’ जिसके आगे सैमसंग जैसे फ़ोन भी है फेल

किसी ने सही ही कहा है “टेक्नोलॉजी आविष्कार की जननी है.” आज दुनियाभर में टेक्नोलॉजी ने जिस तेजी से युग में अपना सिक्का जमाया है वो वाकई बेहद काबिले तारीफ़ है.

आज के युग में मोबाइल फ़ोन का अपना महत्त्व है

इसे टेक्नोलॉजी की ही दें कहेंगे कि जहाँ सालों पहले आस-पास के कई घरों में महज एक ही फ़ोन होता था तो वहीं आज आपको हर घर में एक नहीं बल्कि कई-कई फ़ोन मिल जाएंगे. ये टेक्नोलॉजी का ही बढ़ता कद मानिए कि आज आप घर बैठे वीडियो कॉल के जरिये अपने करीबियों से न केवल बात कर सकते है बल्कि उन्हें देख भी सकते है.

केवल भारत में ही करीब 850 मिलियन से ज्यादा मोबाइल ग्राहक हैं

अगर भारत की बात की जाए तो दुनिया के तमाम देशों में से भारत आज सबसे तेजी से बढ़ने वाला मोबाइल फोन का बाजार बन गया है. जिसमें करीब 850 मिलियन से ज्यादा मोबाइल ग्राहक शामिल हैं. हैरानी की बात ये है कि इन आकड़ों में मध्यमवर्गीय लोगों के साथ-साथ सबसे ज्यादा रिक्शा चालकों और गरीब किसान भी शामिल हैं.

कई मोबाइल कंपनियाँ दे रही है ग्राहकों को लुभावने ऑफर्स

देश में फैलते इसी बाजार को देखते हुए आज देश में कई विदेशी कम्पनियां ग्राहकों को लुभावने ऑफर दे रही है. चुकी ग्रहकों में से एक बड़ा तत्बा अनपढ़ या कम पढ़े लिखे लोगों का है इसलिए कई बड़ी कम्पनियां इन ग्राहकों के चयन के लिए उनकी क्षेत्रीय भाषा का भी विलाप लेकर आ रही है.

भारत में आया पहला इस्लामिक मोबाइल फ़ोन

इसी बीच एक कंपनी दुनिया के तमाम मुस्लिम ग्राहकों को लुभाने के लिए ‘एनमाक’ नाम का दुनिया का पहला इस्लामिक मोबाइल फ़ोन लेकर आई हैं. जी हाँ मोबाइल कम्पनी ने ग्राहकों की इच्छा का भलीभांति ध्यान रखते हुए इसमें कई लुभावने और जरुरी फीचर दिए है.

मुस्लिम ग्राहकों को ये इस्लामिक मोबाइल डिजिटल दुनिया में लेकर जाएगा

‘एनमाक’ मोबाइल के रचनाकारों की माने तो भारतीय मोबाइल फोन में अन्य ग्राहकों के मुकाबले मुसलमान ग्राहकों का एक बड़ा प्रतिनिधित्व होता है, जिससे ये नया इस्लामिक फोन उन्हें डिजिटल दुनिया में लाने का काम करेगा.

कंपनी को लोगों से मिल रही है अच्छी प्रतिक्रिया

भारत में इस ख़ास फ़ोन की शुरुआत करने वाले अनुज कनिष्क ने बताया “भारत में लगभग 180 मिलियन मुस्लिम हैं और उस समुदाय में मोबाइल फोन का प्रवेश कम है, लेकिन जब इस तरह की कोई आकर्षक या सेवा उन्हें उपलब्ध कराई जाएगी, तो इससे ग्राहकों की संख्या में वृद्धि होने की संभावना भी बढ़ जाती हैं. अब तक, हमें इस फ़ोन को लेकर लोगों की अच्छी प्रतिक्रिया ही मिली है.”

भारत का ये पहला इस्लामिक फ़ोन लोगों को धर्म से जोड़ेगा

इसी के साथ उन्होंने इस्लामिक फ़ोन को लेकर ये भी कहा कि “भारतीय समाज में धर्म का एक बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान रहा है, जिसमें अब मोबाइल फोन भी आएगा. इस फ़ोन को बनाने के पीछे हमारा मकसद एक ऐसा उपकरण लाने का था जो दोनों वर्गों को पूरा कर सके. हमारा ये फ़ोन प्रौद्योगिकी और धर्म दोनों का संयोजन है, और ये भारत में भी पहला इस्लामिक फ़ोन होगा.”

फ़ोन में दी गई है इस्लाम से जुड़े कई आधुनिक फीचर

जानकारी के लिए बता दें कि एनमाक में अरबी, अंग्रेजी, बंगाली, उर्दू, मलयालम और तमिल सहित 29 अन्य भाषाओं में कुरान का अनुवाद किया गया है, जिसमें पैगंबर मोहम्मद की हदीस की बातें भी शामिल हैं, और साथ ही मक्का और मदीना में हज यात्रा को लेकर भी भारतीय मुसलमानों के लिए GPS टेक्नोलॉजी दी गई है.

 Story source:  http://www.telegraph.co.uk/technology/news/8935875/Islamic-smart-phone-launched.html

नयी खबर पढने के लिए अगले अगले पेज पे जाएँ

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े