Religion

मुसलमान क्यों नहीं बोलते ‘भारत माता की जय’, हो गया यह बड़ा खुलासा, जानें असल सच्चाई

भारत जैसे देश में जहां एक ही राष्ट्र में तमाम धर्म और जातियों के लोग बसते हैं। जहां हर धर्म के लोगों को अपने धर्म को मानने व उसका प्रचार प्रसार करने की आजादी है। जहां एक ओर यह भारत की ताकत है तो वहीं आज कई लोगों ने अपनी राजनीति चमकाने से लेकर कई बड़े लोगों ने इसे अपना काम निकालने का जरीया भर बना दिया है।

देश के दो सबसे बड़े समुदाय हिंदू और मुसलमानों के बीच बढ़ता तनाव किसी से छिपा नही है। दिनों दिन इसकी स्थिति और गंभीर होती जा रही है। वहीं समाज में ऐसे लोग बाज नहीं आते जो अपनी रोटी सेकने के लिए धर्म की राजनीति करने से पीछे नहीं हटते। देश की मौजूदा हालात की बात की जाये तो देश में राजनीतिक पार्टियों के लिए यह वोट बैंक भर बन कर रह गया है।

वहीं कई बार ऐसा देखा गया है जब भक्तजन व अन्य लोग मुस्लिम समुदाय के लोगों की आलोचना करते हैं, क्योंकि वे लोग ‘भारत माता की जय’नहीं बोलते। लोगों द्वारा इस मुद्दे को लेकर कई बार शिकायत व आवाज उठाई गई है। दूसरी तरफ ऐसे कई लोग है जो भारत माता की जय बोलने पर नहीं करतराते लेकिन भक्तों के पास तो यह एक मुद्दा है जिसे लेकर वह मुस्लिमों को आड़े हाथ ले सके।

शंकराचार्य इस मुद्दे पर बात करते हुए बताते हैं और इन भक्तजनों को एक सही जवाब भी देते हैं,‘लोग कहते हैं कि मुस्लिम भारत माता की जय नहीं बोलते और वह करते हैं कि मुस्लिम राष्ट्र विरोधी हैं।‘

शंकराचार्य कहते हैं, लोग उस भगवान को पूजते हैं जिनकी वे स्तुति करते हैं, पर जो ऐसा नहीं करते वे भगवान को ही नहीं पूजते। जब मुसलमान कहता है,‘अशादु अल्लाह इलल्लाह, वा अशादु आना मोहम्मद-रसुलल्लह’(मैं कहता हूं कि कोई ईश्वर नहीं है लेकिन अल्लाह और मुहम्मद ईश्वर के भेजे गए दूत हैं।) फिर वे लोग किस तरह से भारत माता की जय कैसे बोल सकते हैं?

शंकराचार्य बताते हैं कि मुसलमानों ने देश को बचाने के लिए अपनी जानें गवांई थी झुकने के लिए नहीं बल्कि इसलिए क्योंकि वे इस देश से प्यार करते हैं।

शंकराचार्य कहते हैं कि, मुसलमानों के लिए यह मुश्किल है कि वे भारत माता की जय या वंदे मातरम बोल सकें, क्योंकि वे लोग केवल अल्लाह की पूजा करते हैं।

देखिये वीडियो:-

नयी खबर पढने के लिए अगले अगले पेज पे जाएँ

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े