इस्लाम में क्यों दी जाती है मर्दों को 4 शादियों की इजाजत, जवाब सुन बोलती हो जाएगी बंद - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

इस्लाम में क्यों दी जाती है मर्दों को 4 शादियों की इजाजत, जवाब सुन बोलती हो जाएगी बंद

इस्लाम धर्म पर कई बार पुरुषों द्वारा की जाने वाली 4 शादियों की मंजूरी पर सवाल उठाए जाते हैं। आखिर इस्लाम धर्म 4 निकाह की इजाजत मर्दों को ही क्यों देता है। ठीक इसी तरह लल्लनटाप की एक महिला शख्स ने “इस्लाम में महिलाओं को पुरुषों की तरह चार विवाह का अधिकार क्युँ नहीं?” पर सवाल खड़े कर दिए। इस बारे में ही आपको जरुरी जानकारी देते हुए हम इसकी वजह बता दें।

इस्लाम में क्यों दी गई है पुरुषों को 4 शादियों की इजाजत

“इस्लामिक व्यवस्थाएं” इंसान के जीवन में होने वाली परिस्थितियों को देखकर बनाई गई हैं। एक पुरुष और स्त्री के चरित्र और स्वभाव को ध्यान में रखते हुए अल्लाह ने इन व्यवस्थाओं को बनाया है।

जहां तक देखा जाए तो कई पुरुषों के चरित्र में कई स्त्रियों के साथ संबंध बनाने की लालसा हो सकती है लेकिन ज्यादातर स्त्रियों का चरित्र इस तरह का नहीं होता। स्त्रियां केवल एक मर्द के प्रति हमेशा ईमानदार रहती हैं। केवल उन परिस्थितियों को हटाकर जहां स्त्रियां वैश्या, चरित्रहीन होती हैं।

जीवन की जिन चीजों को ध्यान में रखते हुए बनाई गई थी यह व्यवस्था

बात आती है कि आखिर 4 शादियों में किस तरह की व्यवहारिकता है, जहां इस्लाम पुरुषों को बहु विवाह का अधिकार देता है लेकिन महिलाओं को नहीं।

यहां आपको बता दें कि यह स्त्री-पुरुष के संबंध से पैदा होने वाले बेटे के पिता को लेकर जन्मने वाली परेशानियां को खत्म करने के लिए हैं।

जहां एक स्त्री कई पतियों के साथ एक समय के दौरान ही संभोग कर लेती है तो ऐसे में पैदा होने वाले पुत्र के असल पिता को पहचानने में परेशानी हो सकती है। स्त्रियों का कई पुरुषों के साथ शारीरिक संबंध बनाने से होने वाली बीमारियों की संभावना भी ज्यादा रहती है।

Image result for islam nikah

आज भले ही यह कह सकते हैं कि पैदा हुई संतान के पिता की पहचान के लिए डीएनए टेस्ट कराया जा सकता है लेकिन यह भी सोचिए कि वह डीएनए टेस्ट का सर्टिफिकेट किस किस को दिखाएगा? आखिर किस तरह से यह बताया जाएगा कि, “मैं अपनी माँ के चार पतियों में इस नंबर वाले पति का बेटा हूँ?”

Image result for islam nikah

केवल एक ही नहीं है वजह और भी हैं कई जरुरी बातें

अगर एक पल के लिए इस परेशानी से भी निपट लिया जाए तो जरा सोचिए, एक पत्नी के चार पति होने से क्या हो सकता है। हर रात और हर वैवाहिक पुरुष की शारीरिक जरुरत होती है और उसकी पत्नी का चार पतियों को संतुष्ट करना कैसे संभव हो सकता है? इस बात को पूरी तरह से कोई भी विवाहित पुरुष या विवाहित महिला समझ सकती है।

Image result for islam nikah

महाभारत के काल में द्रौपदी के 5 पतियों का इस तरह से निकाला था हल

इस बात का एक सरल उदाहरण आपको बता दें, महाभारत काल में जब द्रौपदी की पांच पतियों से विवाह हुआ था।

तो वहां भी यही था कि वह पूरे एक साल एक पति के साथ रहती थी जिस दौरान अन्य कोई भी पांडव उस पर आंख उठाकर भी नहीं देख सकते थे।

दूसरी चीज जो दौपदी को वरदान में मिला था कि हर एक साल बाद उसका कौमार्य वापस आ जाएगा। इस तरह से हर एक साल में द्रौपदी ने हर पांडव के एक पुत्र को जन्म दिया।

Related Articles

Close