सामान्य ज्ञान — क्या सऊदी अरब में कोई हिंदू मंदिर है?

संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबू धाबी में जिस वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहुंचकर वहां एक मंदिर का शिलान्यास किया तो UAE में मंदिर पर चर्चा तेज हो गई थी.

प्रधानमंत्री मोदी के UAE दौरे की तस्वीर

गौरतलब हैं कि बनाए जाने वाला यह मंदिर स्वामिनारायण संप्रदाय के बीएपीएस सेक्ट का है. जिसपर हमेशा से ही पाटीदारों का वर्चस्व रहा है. दिल्ली का अक्षरधाम मंदिर भी इसी संप्रदाय का है.

सऊदी अरब में नहीं हैं कोई हिन्दू मंदिर

स्वामिनारायण संप्रदाय के विदेशों में दर्जनों मंदिर है. ऐसे में जब पीएम मोदी ने आबू धाबी में मंदिर का शिलान्यास किया तो मीडिया ने इसे अबू धाबी का पहला हिन्दू मंदिर तक कह दिया, लेकिन अगर सोचा जाए तो सवाल उठता हैं कि क्या इसे हिन्दू मंदिर कहा जाना उचित है?

अगर सऊदी अरब की बात की जाए तो आपको सुनकर शायद हैरानी होगी कि वहां एक भी हिन्दू मंदिर नहीं है.

इतना ही नहीं सऊदी में किसी को भी इस्लाम के अलावा कोई अन्य धर्म का पालन करने की अनुमति नहीं है.

सऊदी में गैरमुस्लिमों द्वारा असार्वजनिक तौर पर अपने धर्म का पालन करना है गैरकानूनी 

क्योंकि सऊदी में कोई भी हिन्दू मंदिर नहीं हैं इसलिए वहां रहने वाले हिन्दू पूजा-अर्चना केवल अपने घरों में ही शांति-पूर्वक तरीके से करते हैं.

सऊदी में महज 2 प्राचीन पवित्र मस्जिद हैं, जिसके चलते यहाँ किसी ओर धर्म का पालन करना गैरकानूनी माना जाता है, फिर चाहे वो हिन्दू धर्म हो, ईसाई धर्म हो, या फिर यहूदी धर्म हो.

सऊदी अरब की हुकूमत का अपने देश पर बहुत ही ताकतवर रुतबा हैं जिसके चलते यहाँ रहने वाले और आने वाले गैरमुस्लिम यहाँ के कानून के आधीन अपने धर्म के त्योहार और उत्सव अपने-अपने घरों में ही मानते है.

पुरे UAE में महज एक ही हिन्दू मंदिर हैं मौजूद

संयुक्त अरब अमीरात में महज एक ही हिन्दू मंदिर मौजूद हैं, जो शिव और कृष्ण मंदिर के रूप में प्रसिध्द है.

यह मंदिर भारतीय वाणिज्य दूतावास के साथ मिलकर चलाया जाता है.

UAE का ये इकलोता मंदिर हिंदुओं के बीच विवाह समारोह भी करता है हालांकि, संयुक्त अरब अमीरात में हिंदू विवाहों का पंजीकरण नहीं किया जा सकता है.

निष्कर्ष

अगर देखा जाए तो जहाँ इस मंदिर के अलावा पुरे UAE में कोई मंदिर नहीं हैं तो वहीं पुरे सऊदी अरब में आपको एक भी मंदिर नहीं नज़र आएगा, फिर भी दुनियाभर से कई धर्मों के लोग यहाँ सालों से रहते आ रहे है.

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Leesha Senior Reporter

यह खबर वायरल इन इंडिया के वरिष्ट पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है| खबर में कोई त्रुटी होने पर हमें मेल के द्वारा संपर्क करें- [email protected] आप हमें इस फॉर्म से भी संपर्क कर सकते हैं, 2 घंटे में रिप्लाई दिया जायेगा |
Close