कोर्ट ने जारी किया दाती महाराज को लेकर आदेश, दाती समर्थकों में मची अफरा तरफी

दाती महाराज पर लगे गैंगरेप के संगीन आरोप

देश में बीजेपी महिलाओं के लिए सुरक्षित माहौल होने का दावा करती है, लेकिन आये दिन हमारे सामने ऐसी खबरें आती रहती है। जो इन दावों को तार-तार कर देती हैं। हाल ही में जम्मू कश्मीर के कठुआ गैंगरेप और हत्या मामले में पूरे देश को हिला कर रख दिया है।

हिन्दुओं के पवित्र धर्मस्थल यानि मंदिर में एक मासूम बच्ची के साथ हुई हैवानियत ने लोगों, खासकर महिलाओं की आत्मा को झकझोर कर रख दिया।

वहीँ राज्य में हिंदूवादी संगठन और बीजेपी नेताओं का तिरंगा लेक आरोपियों के पक्ष में रैली निकालना साफ़ करता है बीजेपी राज में महिलाएं कितनी सुरक्षित हैं।

1. फरार चल रहा रेप का आरोपी दाती महाराज

हाल ही में एक और हिंदूवादी बाबा गैंगरेप के आरोप में फंस गया है। ये हैं शनिधाम का संस्थापक दाती महाराज, जिसे अक्सर आपने इंडिया न्यूज़ पर देखा होगा। शिष्या द्वारा गैंगरेप के आरोप लगाने के बाद शनिधाम का संस्थापक दाती महाराज उर्फ़ मदनलाल राजस्थानी फरार चल रहा था।

पीड़िता द्वारा इस मामले में दर्ज कराई गई एफआईआर के बाद अब इस ढोंगी बाबा दाती महाराज के खिलाफ आईपीसी की धाराओं 376, 377, 354 और 34 के तहत केस दर्ज किया गया है।

2. मीडिया के सामने आकर खुद को बताया बेक़सूर

वहीँ इस मामले में फरार हुआ ये बाबा अपने ऊपर लगे आरोपों को आधारहीन बता रहा था। दाती महाराज मीडिया को तो इंटरव्यू दे रहा है लेकिन पुलिस के सामने बलात्कार जैसे संगीन आरोप लगने के बाद भी पेश नहीं हुआ है।

मीडिया के रूबरू होते हुए दाती महाराज ने पीड़िता को बेटी समान बताया है। उसने कहा है की वह निर्दोष हैं और उसे साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। वह फांसी पर चढ़ जाएंगे, लेकिन नारियों का अपमान नहीं करेंगे। दाती महाराज ने इसके अलावा पुलिस जांच में सहयोग की बात भी कही है।

3. कोर्ट ने जारी किया सर्च वारंट

इसके साथ कोर्ट ने उसके आश्रम का सर्च वारंट भी जारी किया है। साकेत कोर्ट के ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सर्च वारंट जारी करने के बाद दिल्ली पुलिस ने दाती महाराज के आश्रम की तलाशी भी ले ली है।  माना जा रहा है कि वह इस समय राजस्थान में छिपे हो सकते हैं। यहां उनका मशहूर आश्रम पाली जिले में है।

4. बीजेपी राज में सुरक्षित नहीं महिलाए

आपको बता दें हाल ही के बीजेपी शासित राज्यों में भेड़ियों के भेस में बाबा बने बैठे ढोंगियों का पर्दा फाश हुआ है। बीजेपी शासित हरियाणा से गुरमीत राम रहीम जो बीते ही साल शिष्या के साथ रेप का दोधी करार दिया गया।

वहीँ बीजेपी शासित गुजरात से आसाराम भी दुष्कर्म के मामले में जेल की सजा काट रहे हैं। अब दाती महाराज का नाम भी सामने आ चुका है। जोकि बीजेपी शासित राजस्थान में संरक्षण लिए छिपा बैठा है।

निष्कर्ष:

गौरतलब है की इन सभी बाबाओं का लिंक किसी न किसी तरीके से बीजेपी के साथ जुड़ा हुआ है। हिन्दू धर्मगुरु महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने में बाज नहीं आ रहे, वहीँ बीजेपी नेता महिला विरोधी बयान देने से परहेज नहीं करते हैं। तो बीजेपी किस मुंह से ये कह सकती है की उनकी राज में महिलायें सुरक्षित हैं।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Close