बड़ी खबर- 20 लाख की आबादी वाले इस पूरे शहर ने अपनाया इस्लाम, ये रही उसके पीछे की वजह - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

बड़ी खबर- 20 लाख की आबादी वाले इस पूरे शहर ने अपनाया इस्लाम, ये रही उसके पीछे की वजह

आज इस्लाम दुनियाभर में सबसे तेजी से फैलने वाला धर्म है. जिसको अपनाने वालों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है, लेकिन एक समय वो भी था जब एक पूरे शहर में इस्लाम को एक साथ कबूल कर लिया था.

अरब के सिपहसालार कतैबा इब्ने में जब एक साथ पूरे शहर ने कबूल किया इस्लाम

ये वो दौर था अब अरब के सिपहसालार कतैबा इब्ने मुस्लिमा ने समरकंद को फतह कर लिया था. उस वक्त उसूल ये था कि हमला करने से पहले तीन दिन की मोहलत दी जाये और ये बेवसूली हुई भी तो ऐसे दौर में जब जमाना भी उमर बिन अब्दुल अज़ीज़ रह0 का था.

अब्दुल अज़ीज़ रह0 के दौरे में ख़िलाफत करने के वक्त हुआ ये वाक्य 

ये वाकिया था ख़लीफतुलमुस्लेमीन उमर बिन अब्दुल अज़ीज़ रह0 के दौरे में ख़िलाफत करने का. आप को उमर बिन ख़त्ताब रजि0 का सानी समझा जाता है क्योंकि उमर रजि0 के समय ख़िलाफत मे रात में गश्त के दौरान एक देहाती औरत जिसने अपनी लड़की से कहा कि दूध में पानी मिला दे नही तो उमर आ जाएगा.

लड़की का जवाब सुनकर उमर रजि0 ने अपने बेटे से कराई उसकी शादी 

जिसके जवाब में लड़की ने उत्तर दिया कि उमर का अल्लाह तो देख ही रहा है. लड़की का जवाब सुनकर उमर रजि0 ने उस लड़की से अपने बेटे का निकाह कर दिया. यही औरत बाद में चलाकर उमर बिन अब्दुल अज़ीज़ रह0 की नानी बनी.

अमीर होने के बावजूद साधारण शख़्स की तरह काटी जिन्दगी 

उमर बिन अब्दुल अज़ीज़ रह0 शुरुआत से ही बहुत अमीर थे और शाहाना रिहाइश था. मगर जब उनको ख़लीफ़ा चुना गया तो अपनी तमाम दौलत गुरबा में तकसीम कर दी जिसके चलते उन्हें एक साधारण शख़्स की तरह ज़िन्दगी गुज़ारनी पड़ी.

उनके ख़लीफा चुने जाने की बनी मिसाल 

उन्होंने ख़लीफ़ा के रूप में बमुश्किल ढ़ाई साल हुकूमत की मगर ये दौर सुनहरा दौर साबित हुआ क्योंकि उन्होंने अपने अंदाज़े हुकूमत को एक मिसाल बनाते हुए पूरे शहर को इस्लाम अपनाने पर मजबूर कर दिया था.

इस्लाम की राह पर पूरे शहर ने चलने का लिया फैसला 

ऐसा नहीं है कि उन्होंने दवाब में लोगों को इस्लाम अपनाने पर मजबूर किया बल्कि उनके द्वारा जो इस्लाम की परिभाषा और शैली लोगों तक पहुंचाई गई, उसे पहचानते हुए वहां के हर छोटे-बड़े, पुरुष-स्त्री ने इस्लाम की राह पर चलना मंजूर किया.

निष्कर्ष

इसी के चलते कहा जाता है कि अरब के सिपहसालार कतैबा इब्ने मुस्लिमा ने समरकंद को फतह कर लिया था. लोगों ने जिस वक्त इस्लाम अपनाया उसके बाद मानों उनके जीवन की हर समस्या ही दूर होती नज़र आई. यही कारण रहा कि वहां एक साथ पूरे के पूरे शहर में इस्लाम धर्म को अपना लिया था.

story source: http://badalta.com/when-hole-city-accept-islam/

Related Articles

Close