योगी के क्षेत्र में एक मदरसे से सामने आई इस तस्वीर को देख भाजपाई भक्त अपना सिर फोड़ लेंगे !

इस मदरसे के बोर्ड पर लिखी इन लाइनों को पढ़कर कोई विश्वास नही करेगा

यूँ तो भारत कहने को एक धर्म निरपेक्ष देश है लेकिन अगर हकीकत देखी जाए तो आज भी लोगों की सोच हिन्दू और मुस्लिम में अटकी पड़ी नज़र आती है.

1. हिन्दू मुस्लिम में बट रहा है देश

देश में किसी और धर्म को लेकर इतनी बाते सुनने को नहीं मिलती होंगी जितनी हिन्दू और मुस्लिम को लेकर सुनने को मिलती हैं, लेकिन अब हाल ही में एक हैरान करने वाला मामला सामने आने पर ये समय बदलता नज़र आता है.

2. धर्मों के नाम पर आए दिन हो रहा है फ़साद 

आज की बातें करें तो लोगों द्वारा अलग-अलग हिस्सों में आए दिन धर्मों के नाम पर देश में अराजकता फैलाई जाने की खबरे आती रहती है. शायद इसलिए ही 21वी सदी में होते हुए भी आज भी लोगों के अंदर यह बैठा हुआ है कि जो भी आतंकी हमले होते हैं उनमें मुस्लिम ही शामिल होते हैं.

देश का हर व्यक्ति किसी न किसी धर्म से जुड़ा होता है ऐसे में यदि वो व्यक्ति कुछ भी गलत करता है तो उसके पूरे संगठन का नाम खराब होता है. ऐसा ही कुछ मुस्लिम समुदाय के लोगों के साथ भी हो रहा है.

3. गोरखपुर के मदरसे से सामने आया सुन्दर मामला

अगर यूपी की बात करे तो वहां सबसे ज्यादा हिन्दू और मुस्लिम लोगों के बीच दंगों की खबरें सुनने को मिलती हैं लेकिन हाल ही में जो मामला देखने को मिला है उसने सबके होश उड़ा रखे हैं.

दरअसल, यह मामला यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर का है जहाँ लोग उस वक़्त हैरान रह गए जब मदरसे में बच्चों को संस्कृत की शिक्षा दिए जाने की खबर ने तूल पकड़ी.

4. मदरसा ही बना आधुनिक शिक्षा का केंद्र

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो आपको जानकर हैरानी होगी कि मदरसे में शिक्षा के इस केंद्र को शिक्षा बोर्ड के अंतर्गत चलाया जा रहा है. जहाँ ऐसा पहली बार देखने को मिला कि धर्म की राजनीति छोड़कर इस मदरसे में संस्कृत के लिए एक मुस्लिम टीचर भारत के सम्मान में वहां पढ़ने वाले बच्चो को संस्कृत पढ़ा रहा है.

बता दें कि यूपी शिक्षा बोर्ड के अंतर्गत आने वाले इस मदरसे का नाम दारुल उलूम हुसैनिया है. जहाँ कई जिलों के गरीब मुस्लिम बच्चे पढ़ने आते है.

5. योगी सरकार पर लगते रहे है मुस्लिम विरोधी आरोप 

अगर देखा जाये तो अभी तक योगी सरकार मुस्लिमों के विरोध में ही काम करती नजर आई है. लेकिन यूपी के मुस्लिम इस तरह अपना देश प्रेम का उदाहरण देते अक्सर नज़र आ जाते है. इस मदरसा में पढ़ने वाले छात्रों का कहना है कि

“हमें संस्कृत सीखना अच्छा लगता है. हमारे शिक्षक मुस्लिम होते हुए भी इस विषय को अच्छी तरह से समझाते हैं. हम भी बहुत अच्छी तरह समझते हैं. हमारे माता-पिता भी हमें सीखने में मदद करते हैं.”

-निष्कर्ष

हमेशा मुसलमानों पर अटपटे बयान देने वाले योगी और उनके मंत्री शायद खुद उतनी सही संस्कृति नहीं जानते होंगे जैसा यहाँ के मुस्लिम लोग पढ़ रहे है और पढ़ा रहे है. ये मदरसा तमाचा हैं हर उस धर्म के ठेकेदार बने बैठे शख्स के मुंह पर जो मुसलमानों को पाकिस्तान भेजने की बात करता है.

story source: http://www.newsyojana.com/viral/bjp/up-madrsa/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Leesha Senior Reporter

यह खबर वायरल इन इंडिया के वरिष्ट पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है| खबर में कोई त्रुटी होने पर हमें मेल के द्वारा संपर्क करें- [email protected] आप हमें इस फॉर्म से भी संपर्क कर सकते हैं, 2 घंटे में रिप्लाई दिया जायेगा |
Close