रूस के मुस्लिम वैज्ञानिक ने बनाई एक ऐसी शक्तिशाली दवाई जिसे बस चार चम्मच लेने से कैंसर खत्म

दुनिया की ऐसी  बहुत  सी बड़ी बड़ी लाइलाज बीमारियाँ है जिनका इलाज संभव नहीं है और इसकी वजह से लोग मर जाते  हैं |

फिर वो चाहे एड्स हो या कैंसर हो या ट्यूमर हो | ये बीमारियाँ शुरू में तो पकड में नहीं आती हैं और जब तक इनका पता चलता है तब तक ये हाथ से बाहर होती हैं | कितनी ही मासूम जानों को हमने इन बीमारियों की वजह से खोते हुए देखा है |

लोग दावा तो करते हैं कि इनका इलाज कहीं आयुर्वेदा में है या किसी तांत्रिक के पास है लेकिन आजतक इस बारे में कुछ ढंग का देखने को मिला नहीं है | इस बीमारी से देश दुनिया में अरबों लोग ग्रसित हैं और ये बीमारी आज के दौर की सबसे घातक बीमारी बन के सामने आई है |

लेकिन कुछ सुखद इस बारे में सुनने को मिल रहा है क्योकि बहुत से लोग इस बात का दावा कर रहे हैं कि रूसी वैज्ञानिक हृस्तो मेर्मेर्सकी ने एक ऐसा प्राकृतिक उपचार का इजाद किया है जिससे इस बीमारी का इलाज संभव हुआ है |

इस रूसी वैज्ञानिक ने घर में बनने वाली ऐसी नायाब दवाई खोजी है जिसको प्रयोग करने पर केंसर सहित बहुत सी और भी बीमारियाँ दूर की जा सकती हैं | ये दवाई कैंसर के तमाम प्रकार के फॉर्म्स को सही करने में सक्षम बताई जा रही है | आपको हम इस औषधि को तैयार करने की विधि और सामग्री बताते हैं-

  • 400 ग्राम ताजा अखरोट
  • 400 ग्राम अंकुरित अनाज गेंहू
  • 1 किलो प्राकृतिक शहद
  • 12 ताजा लहसुन की कलियाँ
  • 15 ताजा निम्बू

अंकुरित अनाज ऐसे करें तैयार

अनाज को एक कांच के जार में रख दें और उसमे इतना पानी डाले जितने से वो गीले हो जाएँ | एक रात के लिए अब इसे इसी हाल में छोड़ दें | अगली सुबह इसमें से पानी को छानकर निकाल दें |

पानी को अच्छे से निकालने के बाद अनाज को फिर से दोबारा कांच के बर्तन में डाल दें और 24 घंटे के लिए ऐसा ही छोड़ दें | 24 घंटे बाद अंकुरित अनाज तैयार हो जायेगा |

तैयार करने की विधि

लहसुन की कलियाँ,अंकुरित अनाज और अखरोट को एक साथ पीस लें | 5 नीम्बू बिना छिलका फेंके पीस ले | बांकी के बचे 10 नीम्बू का रस इसमें निचोड़ दें |

अब सब चीजों को अच्छे से मिला दें | अब इसमें लकड़ी की चम्मच से शहद अच्छी तरह मिलाएं | इस मिश्रण को एक कांच के जार में भरके फ्रिज में रख दें |

सेवन कैसे करें

डॉ मेर्मेर्सकी के अनुसार इसे सोने के आधा घंटे पहले लें और हर बार खाना खाने के आधे घंटे पहले लें | अगर कैंसर के इलाज हेतू ले रहे हैं तो हर २ घंटे में इसे २-२ चम्मच लेते रहें | ये कैंसर के लिए तो फायदेमंद है ही उसके साथ ये आपको जवान और ताकतवर बनाने में भी मददगार है |

देखिये वीडियो:-

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Aviral Jain

यह खबर वायरल इन इंडिया के वरिष्ट पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है| खबर में कोई त्रुटी होने पर हमें मेल के द्वारा संपर्क करें- [email protected]आप हमें इस फॉर्म से भी संपर्क कर सकते हैं, 2 घंटे में रिप्लाई दिया जायेगा |

Close