साल 2019 के लोकसभा चुनावों में पीएम पद का कौन पहनेगा ताज….. जानिए इस रिपोर्ट में

साल 2019 के लोकसभा चुनावों में पीएम पद का कौन पहनेगा ताज….. जानिए इस रिपोर्ट में साल 2014 में बीजेपी ने आकर कांग्रेस का लोकसभा चुनावों में सूपड़ा साफ कर दिया था। केन्द्र से कांग्रेस को बेदखल करने के बाद बीजेपी ने कई बडे राज्यों में अपनी सरकार बनाई है।

उत्तरप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, गुजरात व गोवा सहित अधिकतर राज्यों में इस समय बीजेपी की सरकार है। अब राजस्थान व मध्यप्रदेश में इस साल चुनाव होने वाले है। इसी के मद्देनजर सभी दल तैयारियों में जुट गए है। इसके बाद एक बार फिर से साल 2019 में लोकसभा चुनावों का बिगुल बज जाएगा।

कई पार्टियों ने अंदरूनी स्तर पर इसकी तैयारियां शुरू भी कर दी है। कई दल गुपचुप तरीके से लोकसभा चुनावों की तैयारी में लगे है। विभिन्न राज्यों में आए चुनाव नतीजों का असर आगामी लोकसभा चुनावों में भी देखा जाएगा।


अगर लोकसभा चुनावों की बात की जाए तो इस समय नरेन्द्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री बने हुए है। मौजूदा हालातों में पीएम मोदी की योजनाओं को जनता द्वारा पसंद किया जा रहा है।

वहीं राहुल गांधी की बात की जाए तो कई राज्यों में कांग्रेस की सरकार गंवाए जाने के बाद राहुल गांधी ने गुजरात चुनावों में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। इस वजह से अब राहुल गांधी को मोदी के टक्कर के अनुसार माना जा रहा है। बीजेपी का चेहरा जहां पर पीएम मोदी होंगे वहीं कांग्रेस का चेहरा राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी होंगे।

दोनों में से ही किसी एक के प्रधानमंत्री बनने के आसार है। कांग्रेस जहां पर वोट बैंक के लिए दलितों व मुसलमानों को अपना हथियार बनाती है तो वही बीजेपी हिन्दुत्व के नाम पर चुनाव लड़ती हुई आई है।

दोनों पार्टियों की मौजूदा राजनीति सिर्फ दलितों और मुसलमानों की वजह से ही चलती आई है। गुजरात चुनावों में जिग्नेश मेवाणी ने दलित नेता के तौर पर उभरकर जीत हासिल की है तो वहीं हिंदुओं के नाम पर बीजेपी के वोट बैंक में इजाफा हुआ है।

जब से पीएम मोदी प्रमुख नेता बनकर उभरे है तब से ही दलित व मुसलमानों की राजनीति काफी बढ़ गई है। हर चुनावों में दोनों जातियों का ही मुद्दा उठाया जाता है। कई दल हिंदुओं को बांटने की राजनीति करने में लगे है।

गुजरात चुनाव की रणनीति

गुजरात चुनावों में देखा गया था कि राहुल गांधी ने चुनाव अभियान के दौरान कई प्रमुख मंदिरों में दर्शन किए थे। इसी के मद्देनजर अब राहुल गांधी ने राजस्थान के चुनावों को देखते हुए सभी प्रमुख मंदिरों की लिस्ट बना ली है। शायद कांग्रेस भी अब बीजेपी के कदमताल पर चलती हुई नजर आ रही है। दोनों ही दल सोची समझी राजनीति कर रहे है।

अगर अगले साल के लोकसभा चुनावों की बात की जाए तो संभावना तो पीएम मोदी की ही वापस से प्रधानमंत्री पद पर आने की है। वहीं राहुल गांधी का वर्चस्व भी देश में अधिक बढ़ने की संभावना है।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

preity indian

यह खबर वायरल इन इंडिया के वरिष्ट पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है| खबर में कोई त्रुटी होने पर हमें मेल के द्वारा संपर्क करें- [email protected]आप हमें इस फॉर्म से भी संपर्क कर सकते हैं, 2 घंटे में रिप्लाई दिया जायेगा |

Close