बड़ी ख़बर : तेलंगाना में गिरी सरकार, फिर होंगे चुनाव, पढ़ें

शेयर करें

विधानसभा का कार्यकाल 02 जून 2019 तक था लेकिन तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव ने वक्त से पहले यहां विधानसभा भंग करने का निर्णय ले लिया है. इसके साथ हीं तेलंगाना में विधानसभा चुनाव होने का रास्ता साफ हो गया है. सब कुछ ठीक रहा तो नवंबर तक इस राज्य में नई सरकार का गठन हो जाएगा. राज्यपाल ने सीएम के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.

1. कांग्रेस और टीआरएस के बीच सीधी टक्कर

बात करें तेलंगाना के वर्तमान विधानसभा की तो इस वक्त 119 सदस्यीय विधानसभा में यहां सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र समिति के पास 90 विधानसभा सीटें हैं. के चंद्रशेखर राव यहां के सीएम हैं. 13 सीटों के साथ कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी है. जबकि असद्दुदीन ओवैसी की पार्टी के 07 विधायक हैं. भाजपा के 05 और टीडीपी के 03 विधायक हैं, जबकि सीपीआईएम का भी एक विधायक है.

देखिये वीडियो:-

2. कांग्रेस और भाजपा की तैयारी

बात करें मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस की तो उसने काफी समय से अपने सांगठनिक ढांचे को मजबूत बनाना शुरु कर दिया था. उसे भी केसीआर के इस फेसले का पूर्वानुमान लग चुका था. वैसे कांग्रेस की राह में सबसे बड़ी बाधा ओवैसी ब्रदर्स हैं. जितना वोट ओवैसी को मिलेगा, कांग्रेस उतनी हीं नीचे जाएगी जबकि भाजपा के विधायक सुरक्षित ठिकाना तलाश कर रहे हैं क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि भाजपा के साथ इस बार उनकी चुनावी नैया पार लगेगी.


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े