अहमद पटेल के आगे फिर से मोदी और शाह ने टेके घुटने, जाने मामला

गुजरात की राजनीति में कांग्रेस नेता अहमद पटेल एक महत्वपूर्ण नाम हैं। उन्हें कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गाँधी का सलाहकार भी कहा जाता है। बीते साल हुए गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मात देते हुए 70 से ज्यादा सीट कांग्रेस ने राहुल गाँधी की अगुवाई में अहमद पटेल की मदद से जीती हैं।

1. अहमद पटेल की याचिका पर फंसी बीजेपी

गुजरात से बीजेपी के लिए एक बुरी खबर सामने आ रही है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात हाई कोर्ट से  सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वो राज्यसभा सांसद और कांग्रेस अहमद पटेल के निर्वाचन को चुनौती देने वाली याचिका पर आगे सुनवाई न करे। गुजरात हाई कोर्ट में ये याचिका बीजेपी के नेता बलवंत सिंह राजपूत द्वारा डाली गई थी।

2. सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी नेता को दिया 2 हफ्ते का वक़्त

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने बीजेपी नेता बलवंत सिंह से जवाब तलब किया है। जिसके लिए उन्हें दो हफ्ते का वक़्त दिया गया है। गौरतलब है कि बीते साल गुजरात में हुए राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने बीजेपी के नेता बलवंत सिंह को हराया था।

3. विचार योग्य नहीं बीजेपी नेता की याचिका

राज्यसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के तुरंत बाद बीजेपी नेता बलवंत राजपूत ने गुजरात हाई कोर्ट में दो विद्रोही विधायकों के मत अवैध घोषित करने के निर्वाचन आयोग के फैसले को चुनौती देते हुए यह याचिका दायर की थी। इस मामले में अहमद पटेल ने अपनी याचिका में कहा था कि बीजेपी नेता राजपूत की चुनाव याचिका विचार योग्य नहीं है।

निष्कर्ष: बीजेपी का गढ़ माने जाने वाले गुजरात में हाल ही के वक़्त में कांग्रेस से तेजी से मजबूती कायम की है। जिसके चलते बीजेपी सकते में आ गई है और किसी न किसी तरह कांग्रेस को कमजोर करने की साज़िश रच रही है।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Close