कौन है चुनाव आयोग के प्रमुख अटल कुमार ज्योति….?

शेयर करें

साल 2014 के बाद से ही देश में जितने भी चुनाव हुए हैं उनमें भारतीय जनता पार्टी भारी भरकम वोटों के साथ जीती है लेकिन यह सब ईवीएम का कमाल कहा जाता है। ईवीएम की बदौलत ही अबतक हुए हर चुनाव में बीजेपी का कमल खिल पाया है।

 

धोखाधड़ी के साथ चुनाव जीतती है विरोधी

अगले साल देश में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं जिस से पहले देश में यह चर्चा शुरू हो गई है कि यह चुनाव बैलेट पेपर द्वारा करवाए जाएं। क्योंकि बीजेपी ईवीएम को हैक करवा कर वोटिंग में हेरफेर करती है और चुनाव जीतती है।

ईवीएम को हैक कर खिलाया जाता है कमल

विपक्षी पार्टियों द्वारा बीजेपी पर ईवीएम हैक कर चुनाव जीतने के आरोप लगाए जाते हैं। लेकिन बीजेपी ने हमेशा विपक्ष के आरोपों को नज़रअंदाज़ किया है। इसके साथ उन्होंने कभी इस मामले में कोई बयान नहीं दिया है।

आम आदमी पार्टी के नेता ने हैक किया ईवीएम

ईवीएम हैक करने के मामले में चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर भी सवाल उठते रहे हैं। चुनाव आयोग का कहना है कि ईवीएम को हैक नहीं किया जा सकता। वही आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने चुनाव आयोग के इस दावे को तार-तार कर दिया है।

मोदी सरकार के लिए काम कर रहा चुनाव आयोग

आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने जनता के सामने ईवीएम को हैक करके दिखाया था। जिसकी वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी , लेकिन इसके बावजूद चुनाव आयोग ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया। बजाए इसके चुनाव आयोग ने भी चुप्पी साध ली है।

चुनाव आयोग के प्रमुख अटल कुमार ज्योति का इतिहास

आपको बता दें कि चीफ इलेक्शन कमिश्नर के पद पर बैठे अचल कुमार ज्योति भाजपा के करीबी हैं। माना जा सकता है कि भाजपा ने अचल कुमार ज्योति को इसीलिए इस पद पर बिठाया है ताकि वह अपनी मनमानी बिना किसी रोक-टोक के कर सके।

गुजरात से ही साथ है मोदी, शाह और सीईसी

चीफ एलक्शन कमिश्नर अचल कुमार ज्योति गुजरात से आते हैं और ये गुजरात कैडर के 1975 के रिटायर्ड आईएस ऑफिसर हैं। ये गुजरात के पूर्व चीफ सेक्रेट्री भी रह चुके हैं।

अपने इस ख़ास आदमी को सीईसी के पद पर बिठाकर मोदी सरकार ने साबित कर दिया है कि अब देश में चुनाव आयोग भी उन्ही के पक्ष में है।

निष्कर्ष:

गौरतलब है कि जिस चुनाव आयोग को निष्पक्ष तरीके से काम करना चाहिए वह इस वक्त मोदी सरकार की गोदी में बैठा हुआ है। अब देश की जनता को ही ईवीएम के खिलाफ सामने आना होगा।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े