बिहार एग्जिट पोल ने उड़ाई भाजपा की नींद, इस पार्टी के खेमें में ख़ुशी की लहर - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

बिहार एग्जिट पोल ने उड़ाई भाजपा की नींद, इस पार्टी के खेमें में ख़ुशी की लहर

साल की शुरुआत में राजस्थान में तीनों सीटें अपने नाम करते हुए कांग्रेस ने बीजेपी को दिखा दिया कि राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों में उसकी राह बेहद मुश्किल भरी होने वाली है. इसी बीच बिहार से आ रही एक खबर ने एक बार फिर बीजेपी और उसके सहयोगी दलों को बड़ा झटका दे दिया है.

बिहार में हुए उपचुनावों पर टिकी है सबकी निग़ाहे

दरअसल, हाल ही में बिहार की दो विधानसभा और एक लोकसभा सीट जो किसी कारणवश खाली हो गई थी उन पर हुए उपचुनाव के बाद, अब जनता और राजनितिक पार्टियों की निगाहें चुनाव के परिणाम पर है जो आने वाली 14 तारीख को आना है.

परिणामों से पहले एग्जिट पोल ने उड़ाई बीजेपी की नींद

लेकिन परिणाम से पहले ही इन चुनावों का जब एग्जिट पोल सामने आया तो जहाँ कांग्रेस खेमें में ख़ुशी की लहर दौड़ गई तो वहीं को एग्जिट पोल को देख बीजेपी को जबरदस्त झटका लग गया है.

बिहार के सेमी फाइनल ने कर दिया सबको हैरान

2019 के आगामी लोकसभा से पहले बिहार के इन उपचुनावों को हर पार्टी सेमी फाइनल के तौर पर देख रही थी, ऐसे में परिणाम से पहले सामने आये एग्जिट पोल के फैसले पर अब सभी की निगाहें आकर टिक गई हैं.

जदयू और राजद की लड़ाई में राजद को मिल रही है बढ़त 

जानकारी के लिए बता दें कि खाली पड़ी सीटों में से जहानाबाद सीट पर सीधी लड़ाई बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू और राजद से थी. जिसके बाद अब यही सीट एग्जिट पोल के अनुसार पुर्णतः बहुमत के साथ राजद के पक्ष में जाती दिखाई दे रही है. एग्जिट पोल के परिणामों पर अगर नज़र डाले तो जहानाबाद सीट से राजद उम्मीदवार सुदय यादव जदयू के प्रत्याशी को मात देते नजर आ रहे हैं.

भाजपा को भी मिल रही है हार

इसके अवाला अगर बिहार की अररिया सीट की बात करे तो यहाँ भी भाजपा के लिए बेहद बुरी खबर आ रही है, यहाँ भाजपा उम्मीदवार को अपनी पराजय झेलनी पड़ सकती है. इस सीट से भाजपा के उम्मीदवार प्रदीप कुमार सिंह मामूली अंतर से लेकिन यह उपचुनाव हारते दिख रहे हैं.

भभुआ सीट पर भी बीजेपी की हालत है खराब

इसके साथ ही भभुआ सीट पर भी भाजपा की राह बेहद खस्ता नज़र आ रही है, यहाँ भी बीजेपी की हालत अच्छी नहीं है, लेकिन इस सीट पर कांटे की टक्कर के बाद फैसला कुछ भी हो सकता है.

केवल एक सीट से ही बीजेपी को करनी पड़ सकती है संतुष्टि

राजनितिक विशेषज्ञों के अनुसार, केवल एक सीट पर भाजपा उम्मीदवार रिंकी पांडेय को जनता की सहानुभूति वोट के अलावा कांग्रेस के बेहद कमजोर उम्मीदवारी का ही फायदा मिलता दिखाई दे रहा है.

एग्जिट पोल से कांग्रेस खेमें में ख़ुशहाली

अगर इन उपचुनावों के वोट प्रतिशत पर गौर करे तो बिहार की अररिया लोकसभा क्षेत्र में करीब 57%, जहानाबाद विधानसभा क्षेत्र में लगभग 50.6% और भभुआ विधानसभा क्षेत्र में करीब 54.3 फीसदी मतदान डाले गये है. जिसके बाद अब रिजल्ट से पहले ही सामने आये एग्जिट पोल ने भाजपा और उसके सहयोगी दलों की नींद उड़ा दी है.

निष्कर्ष

हालांकि राज्य में हुए इन उपचुनावों में जीत किसके पाले में जायेगी ये अभी आधिकारिक तौर पर आना बाक़ी है. लेकिन परिणामों से पहले ही कांग्रेस जीत की तैयारी में जुट गई है.

Related Articles

Close