उत्तर प्रदेश में हार से उभरे नहीं थे की आ गए बंगाल चुनाव के परिणाम - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

उत्तर प्रदेश में हार से उभरे नहीं थे की आ गए बंगाल चुनाव के परिणाम

मध्यप्रदेश के बाद अब बंगाल में भी भाजपा के हाथ निराशा लगी है | बंगाल में हुए नगरपालिका निकाय चुनावो में तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा समेत अन्य राजनीतिक पार्टियों का सूपड़ा साफ़ कर दिया है | तृणमूल कांग्रेस ने 148 सीटो में हुए चुनावों में से 140 सीटो पर जीत दर्ज करवाई |

एक वक़्त ऐसा भी था जब लेफ्ट का रुतबा था पश्चिम बंगाल में लेकिन कुछ दशको से लेफ्ट खुद को पिछड़ता ही पा रही है | इस चुनाव में भी वामपंथी को केवल एक सीट पर संतोष करना पड़ा |

इन चुनावों में तृणमूल ने 140 सीटो पर जीत दर्ज की वही भाजपा ने 6 पर और वामपंथी केवल एक पर सिमट कर रह गयी | बंगाल में लगातार बढ़ता तृणमूल कांग्रेस का वर्चस्व ये सबूत है की लोग ममता बैनर्जी पर आज भी अटूट विश्वास बनाये हुए है | हालाँकि भाजपा पूरा प्रयास कर रही है इस क्षेत्र में लेकिन पार्टी की परफोर्मेंस में कोई सुधार नहीं |

भाजपा की तैयारियों पर फिर गया पानी

पिछले कुछ दशको से भाजपा ममता बैनर्जी के गढ़ पश्चिम बंगाल में अपनी पैठ बनाने का भरपूर प्रयास कर रही है लेकिन आये दिन उसे निराशा का ही सामना करना पड़ता है | इन चुनावों में भी मोदी की पार्टी ने कई प्रोग्राम चलाये थे और जनता को लुभाने की कोशिश की थी मगर परिणाम उसके उलट ही आये |

महज छह सीटो पर पार्टी को संतोष करना पड़ा | भाजपा को धुनगुरी नगर पालिका चुनावों में चार वार्डों मे जीत मिली | वैसे धुनगुरी में कुल 16  वार्डों में चुनाव हुए | यहां पर 12 में तृणमूल को जीत  मिली |

इसके अलावा भाजपा को बुनियादपुर और पंसकुरा में एक एक वार्ड में जीत हासिल हुई | निश्चित तौर पर भाजपा की राज्य नेतृत्व ने ऐसे परिणाम की उम्मीद तो नहीं की होगी |

ममता पर बढ़ते भरोसे के चलते तृणमूल बनी बड़ी ताक़त

विपक्षी पार्टिया जहा ममता बैनर्जी को कई मुद्दों पर घेरती आई है वही तृणमूल की महासचिव पार्था चटोपाध्याय कहती हैं, लोगों का भरोसा ममता पर जबरदस्त तौर पर बढ़ रहा है | चुनाव परिणामों ने इसे साबित कर दिया है | विपक्ष का तो इन चुनावों में सफाया ही हो गया है |

ज्यादातर नगरपालिकाओं में तृणमूल ने लगभग पूरी सीटें अपने खाते में डाल ली हैं | ये इसी से जाहिर है कि 148 वार्डों में हुए चुनावों में 140 पर सत्ताधारी दल को जीत मिली | हल्दिया, कूपर्स कैंप और दुर्गापुर में सारी की सारी सीटें तृणमूल की झोली में जा गिरीं| इन सभी जगहों पर लेफ्ट फ्रंट एक जमाने में बड़ी ताकत था लेकिन अब वो कहीं नहीं है |

Related Articles

Close