शेयर करें

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी खुले तौर पर बीजेपी का विरोध करती हैं। पश्चिम बंगाल में बीजेपी द्वारा कई बार सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई है लेकिन सीएम ममता बनर्जी हमेशा उनके मंसूबों पर पानी फेर देती हैं।

1. ममता के राज्य में नहीं चलती बीजेपी की गुंडागर्दी

उनके राज्य में बीजेपी की कोई भी चाल और हिंदूवादी संगठनों की गुंडागर्दी नहीं चल पाती। गौरतलब है कि ममता बनर्जी कई बार बीजेपी को आतंकी संगठन करार दे चुकी हैं। जो आरएसएस के इशारे पर काम कर रहा है। हाल ही में ममता बनर्जी और बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की मुलाकात सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बन गई है।

2.  ममता का अडवाणी के पैर छूना बना चर्चा का विषय

मोदी और शाह की तानाशाही के खिलाफ आवाज़ बुलंद करने वाली ममता बनर्जी ने आडवाणी से मुलाकात कर उनके पैर छूकर आशीर्वाद लिया। ममता बनर्जी ने इसे शिष्टाचार भेंट का नाम दिया है।  आपको बता दें कि इस मुलाकात के दौरान ममता ने आडवाणी के साथ 15 मिनट तक गहन मुद्दों पर बातचीत की है।

3. ममता जल्द ही करने जा रही मेगा एंटी बीजेपी इवेंट

माना जा रहा है कि यह ममता की मेगा एंटी बीजेपी रैली के लिए बनाई जा रही रणनीति का ही एक हिस्सा है।  आपको बता दें कि ममता बनर्जी मोदी सरकार की तानाशाही के खिलाफ 2019 की शुरुआत में एक मेगा  एंटी बीजेपी इवेंट का आयोजन करने जा रही हैं।  जिसके चलते वह दिल्ली के दौरे पर आई हुई हैं और कई बड़े नेताओं से बातचीत कर रही हैं।

4. बीजेपी विरोधी नेताओं को ममता कर रही एकजुट

राजनीतिक सूत्रों की मानें तो ममता बनर्जी ने इस एंटी बीजेपी इवेंट में विपक्ष के साथ साथ कई सत्तापक्ष नेताओं को भी आमंत्रित करने का फैसला लिया है।  यह वह नेता हो सकते हैं जो बीजेपी से इस वक्त नाराज चल रहे हैं। दिल्ली पहुंची ममता बनर्जी कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात करने वाली हैं। वह अब तक एनसीपी चीज शरद पवार सुप्रिया सुले और बीजेपी के बागी नेता शत्रुघ्न सिन्हा और यशवंत सिन्हा के साथ-साथ राम जेठमलानी से भी मुलाकात कर चुकी हैं।

निष्कर्ष:

गौरतलब है कि टीएमसी और बीजेपी के बीच की तनातनी पीएम मोदी और ममता बनर्जी के भाषणों में साफतौर पर देखने को मिलती है। ममता बीजेपी के खिलाफ एक ऐसा इवेंट करने का प्लान कर रही है। जिसके चलते लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी मुश्किल में आ सकती है।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें