दहेज़ परम्परा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने उठाया एतिहासिक कदम, तुरंत होगी गिरफ्तारी, पढ़ें

शेयर करें

भारत में दहेज प्रथा के लिए भले ही कई कानून बन चुके हो लेकिन अभी भी यह पूरी तरह से खत्म नहीं हो पाई है शादी गिफ्ट देने के नाम पर लड़की वालों से दहेज मांगा जाता है वही खुद लड़की वाले भी बिना दहेज के शादी करना एक अपराध की तरह देखते हैं।

1. दहेज लेना-देना है एक गंभीर आरोप

गौरतलब है कि दहेज देना और दहेज लेना दोनों ही इस देश में अपराध माने जाते हैं। लेकिन अब भी यह अपराध लोगों द्वारा बढ़-चढ़कर किया जाता है और कई लोग समाज की आड़ में छिपकर इसे बखूबी अंजाम देते हैं।

2. दहेज पीड़ितों के लिए आई एक अच्छी खबर

अब हम आपको जो खबर बताने जा रहे हैं। वह दहेज लेने वाले और देने वालों के लिए एक बुरी खबर जरूर हो सकती है। लेकिन समाज में एक बदलाव का कारण भी बन सकती है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने दहेज उत्पीड़न मामले में तुरंत गिरफ्तारी पर रोक के खिलाफ दायर याचिका पर यह फैसला सुनाया है।

3. सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला

सुप्रीम कोर्ट चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ ने अपने पिछले फैसले में संशोधन करते हुए यह फैसला सुनाया है कि अगर पुलिस को जरूरत लगे तो वह आरोपी को तुरंत गिरफ्तार कर सकती है।

4. दहेज उत्पीड़न मामले में आरोपी होगा तुरंत गिरफ्तार

इससे पहले इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला सुनाया था कि दहेज उत्पीड़न मामलों में शिकायतों के निपटारे के लिए पहले परिवार कल्याण कमेटी का आयोजन किया जाएगा लेकिन अब आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी पर लगी रोक को हटा दिया गया है।

5. पीड़ित की सुरक्षा के पक्ष में सुनाया ये फैसला

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट जल्द ही इस मामले में भी फैसला सुनाने वाली है कि आरोपी के पास अग्रिम जमानत के लिए विकल्प होगा या नहीं। दरअसल यह फैसला सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ित की सुरक्षा के लिए जरूरी मानते हुए लिया है।

निष्कर्ष: देश में आज भी कई महिलाएं दहेज के नाम पर जलाई जाती है। सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला उनके लिए काफी कामगार साबित होगा।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े