मुस्लिम देश सऊदी अरब और पाकिस्तान ने मिलाया हाथ - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

मुस्लिम देश सऊदी अरब और पाकिस्तान ने मिलाया हाथ

जैसा सभी जानते हैं कि शेख, रेगिस्तान, मक्का-मदीना वाले मुस्लिम देश सऊदी अरब में दुनियाभर के मुस्लिम हर साल पहुँचते है.

फिर चाहे वो हज यात्रा को लेकर हो या सऊदी में रहने को लेकर..दुनियाभर से लाखों करोड़ों यात्री और प्रवासी सऊदी का रुख करते है.

पाकिस्तान का सऊदी की ओर रहा हैं झुकाव

इन्ही में से पाकिस्तान से भी भारी तादाद में नागरिक सऊदी में जाते है.

इसको देखते हुए ही पाकिस्तान की ओर से सऊदी को लेकर रवैया बेहद नर्म रहा है.

हमेशा से ही पाकिस्तान सऊदी हुकूमत के पक्ष में खड़ा दिखा है.

पाकिस्तान के रिश्ते सऊदी से रहे हैं अच्छे

अगर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ की बात करे तो दुनिया ये भलीभांति जानती हैं कि शरीफ परिवार के सऊदी शाही परिवार से नजदीकी रिश्ते हमेशा से ही रहे थे.

इसके अलावा सऊदी अरब में काम करने वाली पाकिस्तानी नागरिकों के लिए भी सऊदी विदेशी मुद्रा का बड़ा स्रोत है.

साथ ही कई पाकिस्तानी धार्मिक संगठनों को सऊदी अरब से हमेशा से ही हमदर्दी है.

इन सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए ही अब पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शाहिद ख़ाक़ान अब्बासी सऊदी अरब के दो दिवसीय आधिकारिक दौरे पर रियाज़ पहुंचे.

पाकिस्तान प्रधानमंत्री पहुचे सऊदी

जी हाँ मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद ख़ाक़ान अब्बासी दो दिवसीय सरकारी यात्रा पर सऊदी अरब पहुंचे.

पाकिस्तान प्रधानमंत्री के इस दौरे में उनके साथ पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख़ुर्रम दस्तगीर खान और सेनाध्यक्ष जनरल क़मर जावेद बाजवा भी मौजूद दिखे.

पाकिस्तान प्रधानमंत्री और सऊदी राजा सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ की हुई मुलाक़ात

सूत्रों की माने तो पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने अपने सऊदी अरब के इस खास दौरे के दौरान, सऊदी गठबंधन के सैन्य अभ्यास का भी बेहद करीब से निरीक्षण किया.

इस दौरे के दौरान प्रधानमंत्री शाहिद ख़ाक़ान अब्बासी और सेनाध्यक्ष जनरल क़मर जावेद बाजवा ने सऊदी राजा सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ और युवराज मोहम्मद बिन सलमान से भी एक अहम मुलाक़ात की.

इस्लामी देश सीरिया पर अमेरिकी हमले का सऊदी ने किया था समर्थन

गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और सेनाध्यक्ष ने उस समय में सऊदी अरब का दौरा किया जब केवल दो दिन पहले इस्लामी देश सीरिया पर अमरीका और उसके सहयोगियों ने मिसाइलों की बारिश की थी.

जिसका समर्थन सऊद आलाकमानों ने खुलकर किया था.

अमेरिका द्वारा सीरिया पर मिसाइल हमले पर पाकिस्तान ने जताई थी आपत्ति

हालांकि याद हो तो बीते 14 अप्रैल को अमेरिका और उसके सहयोगी फ्रांस और ब्रिटेन द्वारा सीरिया पर मिसाइल हमले के दौरान पाकिस्तान ने अपनी चिंता व्यक्त करते हुए कहा था कि,

“इस प्रकार के हमले एक संप्रभु राष्ट्र की भौगोलिक अखंडता पर हमला है जो अंतर्राष्ट्रीय क़ानून का खुला उल्लंघन है.”

निष्कर्ष

ऐसे में तमाम खबरों और चिंता के बावजूद जब पाकिस्तान प्रधानमंत्री सऊदी पहुचे तो ये माना जा रहा हैं कि ये यात्रा पाकिस्तान के लिए बेहद ख़ास और लाभदायक साबित हो सकती है.

Close