छलके ओबामा के आंसू, इस बात को कहकर लगाई योगी मोदी जैसो की अकल ठिकाने

शेयर करें

बराक ओबामा, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति और पूरे विश्व में एकता और अहिंसा की सबसे बड़ी मिसाल | हाल ही में अमेरिका में हुए चुनावों में डोनाल्ड ट्रम्प की जीत के चलते अमेरिका के अगले राष्ट्रपति बने ट्रम्प|

उनकी छवि एक मुस्लिम विरोधी और तानाशाह की है जो कई बार अपने मुस्लिम विरोधी बयानों से मीडिया में छाए रहे | भारत में भी उनकी जीत को लेकर खुश बनायीं गयी और इतना ही नहीं कई साम्प्रदायिक गुटों ने बाकायदा उनके लिए हवन भी किया |

ये वही लोग है जो कभी गौ रक्षक बन जाते है और अल्पसंख्यको पर अत्याचार करते है, ये वही लोग है जो ट्रिपल तलाक के ज़रिये यूनिफार्म सिविल कोड बिल लाना चाहते है, ये वही है जो डोनाल्ड ट्रम्प में मोदी को ढूँढ़ते है |

आपको बताते चले नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से पहले अमेरिका ने उन पर 2002 के दंगो के चलते पाबंदी लगा दी थी | चूँकि मोदी और डोनाल्ड ट्रम्प में सम्नाताओ के चलते साम्प्रदायिक गुटों को इनसे भारी उमीदे है | ऐसे वक़्त में बराक ओबामा के ट्वीट ज़बरदस्त शेयर किया जा रहा जो की माना जाता है की ये सीधे तौर पर उन लोगो के खलाफ है जो समाज में नफरत फैला रहे है |

“कोई इंसान धर्म, पहचान और रंग के प्रति नफरत लेकर पैदा नहीं होता’ :- बराक ओबामा”

वर्जीनिया के शर्लोट्सविले में हुई हिंसा पर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने दक्षिण अफ्रीका के रंगभेद विरोधी नेता नेलसन मंडेला को उद्धृत करते हुए जो ट्वीट किया था उनका ट्वीट ट्वीटर पर वायरल हो गया है। ओबामा के इस ट्वीट को 36 लाख से अधिक लोगों ने पसंद किया है |

ओबामा ने ट्वीट में लिखा था कि ‘चेहरे का रंग, पृष्ठभूमि या धर्म की वजह से कोई भी व्यक्ति दूसरे से नफरत लेकर पैदा नहीं होता है।’ 12 अगस्त को किए गए इस ट्वीट के साथ ओबामा की तस्वीर भी है जिसमें वह अलग-अलग जाति और नस्लों के बच्चों को एक खिड़की झांक रहे हैं।

सिलिकॉन वैल स्थित सोशल मीडिया कंपनी ने कहा कि बराक ओबामा का यह ट्वीट सर्वाधिक लाइक वाला ट्वीट बन गया है। जिसे 36 लाख से अधिक लोगों ने लाइक किया है। जबकि 14 लाख से अधिक लोगों ने इस ट्वीट पर रिट्वीट किया है। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति के इस ट्वीट पर 56 हजार से ज्यादा लोगों ने कमेंट करके अपनी प्रतिक्रिया दी है।

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति के ट्वीट में एक तस्वीर है जिसमें ओबामा ने लिखा है कि, कोई भी व्यक्ति इसलिए पैदा नहीं हुआ है कि किसी अन्य व्यक्ति से उसकी त्वचा के रंग, पृष्ठभूमि या उसके धर्म के कारण नफरत करें। ऐसी ही एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें वो अपनी बेटी साशा के स्कूल विजिट के बाद पास ही में स्थित ‘डे केयर फैसिलिटी’ में बच्चों के साथ मस्ती में नज़र आ रहे है।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े