नेपाल ने भारत के बिकाऊ मीडिया पर लगाया प्रतिबंध… पढ़े पूरी ख़बर

यूँ तो पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा सबसे मजबूत स्तंभ कहा जाता हैं लेकिन आज ये स्तंभ किस कदर सत्ताधारियों की भेट चढ़ चूका हैं इस बात को सभी भलीभांति जानते हैं.

मोदी सरकार के हाथों बिक गया हैं भारतीय मीडिया

जी हाँ जबसे केंद्र में मोदी सरकार आई हैं तबसे ही भारत के पत्रकार अपना पत्रकारिता का धर्म भूलकर व्यक्ति विशेष की सेवा में लगे नज़र आ रहे है.

आज कोई भी चैनल या अखबार उठा कर देख लो वहां आपको जागरूक करने वाली खबर कम और सत्ताधारी पार्टी का विज्ञापन और उनकी उपलब्धियों का बखान ज्यादा नज़र आएगा.

सीधे शब्दों में कहे तो आज भारत के लगभग सभी न्यूज़ चैनल व अखबार वाले बीजेपी की मोदी सरकार के हाथों बिक गये है.

जिसके चलते ही आज टीवी पर प्रसारित होने वाले न्यूज़ चैनलों में भर-भर कर ऐसी अन्धविश्वास फ़ैलाने वाली चीज़ें दिखाई जाती हैं कि उन्हें देखने भर से ही अच्छे-अच्छों की बुद्धि भ्रष्ट हो जाए.

इस देश ने लगाया भारतीय मीडिया पर बैन

इसके आलावा भारतीय मीडिया फेक न्यूज़ दिखाने में इतना आगे बढ़ गया हैं जिससे अब विश्व के दुसरे देश भी प्रभावित होते दिख रहे है.

इसके चलते ही अब भारतीय मीडिया की फ़ेक खबरों को लगाम लगाने के लिए इस देश ने कड़ा कदम उठा लिया है.

जी हाँ भारत के लोग तो जैसे-तैसे फेक खबरों को झेल रहें हैं लेकिन अब खबर हैं कि नेपाल की सरकार ने इन सब अन्धविश्वास चीज़ों से अपने हाथ खड़े करते हुए एक नया फ़रमान जारी कर दिया है.

नेपाल में बंद हुई फेक खबरे फैलाने वाली फैक्ट्री

बता दें कि नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी ओली ने पत्रकारिता का धर्म भूलकर अन्धविश्वास, पाखण्ड और फेक खबरों की फैक्ट्री चलाने वाले भारत के चैनलों पर बैन लगा दिया है.

ऐसा करते हुए उन्होंने इसके पीछे का प्रमुख कारण बताया है कि ये चैनल रात-दिन अन्धविश्वास को बढ़ावा दे रहे है.

धर्म के नाम पर भारत में धंधा करने वालों पर नेपाल ने लगाई लगाम

नेपाल के प्रधानमंत्री का इस फैसले पर कहना हैं कि,

“भारत के सभी न्यूज़ चैनल पैसों के लिए देश की आम जनता को अपने चैनल में कुछ भी दिखा रहे है. और इसी वजह से उन्होंने सभी बिकाऊ अन्धविश्वासी पाखण्डी चैनलों पर बैन लगा दिया है.”

इस कदम पर उन्होंने बताया कि,

“न्यूज़ चैनलों पर फेक न्यूज़ के साथ-साथ कुबेरलक्ष्मी धनवर्षा यन्त्र, हनुमान रक्षा कवच आदि चीज़ें दिखाई जाती है, जिससे लोगों को सरेआम गुमराह किया जा रहा है. यह सभी लुटेरे लोग धर्म के नाम पर गलत धंधा कर रहें हैं. वे ऐसे करके लोगों की भावनाओं से खेलते हुए उन्हें बेवकूफ बनाकर माल बेच रहें हैं.”

नेपाल के प्रधानमंत्री की बाते सुनकर मोदी डूब मरेंगे

गौरतलब हैं कि नेपाल के प्रधानमंत्री यह बात शायद भारत की सरकार से ज्यादा भलीभाँति जानते हैं कि यदि धन वर्षा यन्त्र इतना कारगर होता तो भारत के 20 करोड़ लोग भूखे न मर रहे होते.

हनुमान रक्षाकवच में इतनी ताकत होती तो भारत के सभी राजनेताओं को Z+, Y श्रेणी की सुरक्षा पर लाखों खर्च करने की जरुरत नहीं पड़ती.

निष्कर्ष

भारत के बारे में जिन 12 तथ्य का उल्लेख करते हुए नेपाल के प्रधानमंत्री ने भारतीय मीडिया पर बैन लगाया हैं वो मजाकिया होने के साथ-साथ काफी हद तक भारत के चौथे स्तंभ पर सवाल खड़ा कर रही है. और इसी बात को समझते हुए नेपाल में प्रसारित होने वाले सभी भारतीय न्यूज़ चैनलों पर नेपाल के पीएम ने बैन लगाने का फैसला लिया है.

story source: https://openkhabar.com/indian-chnnal-are-ben-in-nepal-for-fake-news/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Leesha Senior Reporter

यह खबर वायरल इन इंडिया के वरिष्ट पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है| खबर में कोई त्रुटी होने पर हमें मेल के द्वारा संपर्क करें- [email protected] आप हमें इस फॉर्म से भी संपर्क कर सकते हैं, 2 घंटे में रिप्लाई दिया जायेगा |
Close