शेयर करें

मीडिया किसी भी देश का एक ऐसा स्तम्भ होता है जिससे देश की सुरक्षा भी होती है तो कभी कभी मीडिया ही देश की बर्बादी का कारण बन जाती हैं. किसी भी देश की मीडिया अगर चाहे तो किसी भी देश के लोगों को किसी भी तरह भड़का सकती है.

कभी कभी मीडिया कुछ ऐसी चीजें हमारे सामने पेश करती है जिसकी हमें जरूरत नहीं होती है. पर आज की मीडिया को मसाला चाहिए होता है, चाहे वो कोई रेप की खबर हो या फिर किसी देश की सुरक्षा की या फिर कोई आंतकी घटना मीडिया हर न्यूज़ में मसाला डालने का काम करती है.

1.मीडिया की वजह से देश में पैदा हो रहा है खतरा

हाल ही में डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिकी मीडिया पर निशाना साधते हुए कहा की आज की मीडिया देशद्रोही वाला काम कर रही हैं. अगर देश के पत्रकार अपनी पत्रकारिता सही से करें तो किसी भी देश में कोई भी खतरा नहीं आ सकता.

पर आज कल ऐसा नहीं होता है सब अपनी न्यूज़ में मसाला डालने का काम करते हैं. ट्रम्प ने कहा की मीडिया ही है जो अपने देश की गुप्त बातें शेयर करती है जिसकी वजह से अनेक लोगों की जान को खतरा हो सकता हैं.

2.मीडिया की वजह से देश की जनता में बढ़ रहा है खौफ

ट्रम्प ने ट्विट करते हुए कहा की ‘ मेरे प्रशासन में 90 फीसदी मीडिया कवरेज नकारत्मक हैं, जबकि हम बहुत अच्छा काम कर रहे हैं. अब मीडिया पर से लोगों का विश्वास घटता जा रहा है.’ ऐसा ट्रम्प के साथ ही नहीं भारत में भी हो रहा है, किसी एक नेता की छवि बनाने में मीडिया अनेक नेताओं की छवि गिरा रही है.

ऐसा आपने अक्सर टीवी और समाचार पत्र में देखा होगा की मीडिया आज के टाइम में किसका साथ दे रही है. मीडिया का यही साथ और उनकी कुछ ऐसी खबरें जो अनेक देशों की गुप्त बातें शेयर कर देती हैं.

3.भारत भी अछूता नहीं है

आज ट्रम्प की बात से यह बात तो साफ़ हो गई की अमेरिका में भी भारत की भाँती मीडिया गेम खेल रही हैं. आज भारत में भी ऐसा ही हो रहा है किसी एक न्यूज़ को इतना फोकस दिया जाता है कि एक समाज के बिच झगड़ा भी हो सकता हैं.

पर मीडिया को सिर्फ अपनी खबर में मसाला डालकर उस पर डिबेट करवाने में मजा आता है. खैर यह कोई नई बात नहीं है, पर अक्सर ऐसी बाते होती है की हमें ऐसा लगने लग जाता है कि मीडिया देश में दंगे करवाना चाहती है.

निष्कर्ष: अगर आगे भी मीडिया का ऐसा ही रवैया रहा तो वो समय दूर नहीं है जब हर कोई कहेगा की मीडिया के पास अब कोई खबर नहीं बची है और आज ऐसा हो भी रहा है. मीडिया के पास सिर्फ और सिर्फ मोदी बचा है बाकी की खबरें तो पता नहीं कहाँ हैं.

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें