मोदी ने चुकाया ऐहसान, खुलने से पहले ही रिलायंस के जिओ इंस्टीट्यूट को दे दिया ख़िताब, पढ़ें

मानव संसाधन विकास मंत्रालय यानि कि एचआरडी मिनिस्ट्री ने कल देश की 6 यूनिवर्सिटीज को उत्कृष्ठ संस्थान का दर्जा देने की घोषणा की है। जिसके बाद एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावेड़कर सोशल मीडिया यूज़र्स के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल इन 6 संस्थानों में एक ऐसा इंस्टीट्यूट भी शामिल है। जो कि अभी खुला भी नहीं है। लेकिन मोदी सरकार ने इसे उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा दे भी दिया है।

1.  मोदी सरकार ने जियो इंस्टीट्यूट को डाला टॉप 6 में

इस इंस्टीट्यूट का नाम है जियो इंस्टीट्यूट। जो कि देश के जाने माने बिजनेसमैन और प्रधानमंत्री के करीबी मुकेश अंबानी द्वारा शुरू किया जा रहा है। आपको बता दें कि एचआरडी मंत्रालय ने आईआईटी दिल्ली, आईआईटी बंबई और आईआईएससी बेंगलोर, मणिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन, बिट्स पिलानी और जियो इंस्टीट्यूट को उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा देने की घोषणा की है।

2. गूगल पर जियो इंस्टीट्यूट की जानकारी तक नहीं

‘जियो इंस्टीट्यूट’ में अभी पढ़ाई शुरू नहीं हुई है। उम्मीद की जा रही है कि अगले तीन साल तक जियो इंस्टीट्यूट में पढाई शुरू हो जाएगी। लेकिन मोदी सरकार द्वारा देश में सालों से चल रहे प्रतिष्ठित संस्थान आईआईटी के साथ जियो इंस्टिट्यूट का नाम जोड़ना शर्मनाक है। क्योंकि अभी इसी साल ऐसी खबर आई थी कि रिलायंस कोई शिक्षा संस्थान बनाने जा रहा है। हालाँकि इसके बारे में गूगल पर भी कोई खबर नहीं है कि ये यूनिवर्सिटी कहाँ पर है ?

निष्कर्ष: इस मामले में मोदी सरकार पर गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं। मोदी सरकार को मुकेश अंबानी के हाथ की कठपुतली करार दिया जा रहा है।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Close