कांग्रेस नेताओं के लिए राहुल का बड़ा ऐलान, कार्यकर्ता भी झूम उठे

शेयर करें

केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी साल 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रचार प्रसार के लिए हजारों करोड़ रुपए खर्च कर दिए वही नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री के बाद वह अब तक अपने विदेशी दौरों पर ही कई करोड़ों रुपए खर्च कर चुके हैं जिसे कि वह देश के विकास के काम में लगा सकते थे।

1. 2019 लोकसभा चुनाव के लिए शुरू हुआ प्रचार-प्रसार

गौरतलब है कि साल 2019 में एक बार फिर लोकसभा चुनाव होने वाले हैं जिसके चुनाव प्रचार का डंका राजनीतिक दलों ने अभी से ही बजाना शुरू कर दिया है।

2. चुनाव प्रचार पर हजारों-करोड़ रूपये खर्च करती है बीजेपी

भारतीय जनता पार्टी चुनाव प्रचार के लिए अब भी करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। आने वाले लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस भी खुद को मजबूत करने के लिए चुनाव प्रचार शुरू कर चुकी हैं।

3. कांग्रेस नहीं खर्च करना चाहती चुनाव प्रचार पर फिजूल खर्च

कांग्रेस इस चुनाव प्रचार में बीजेपी की तरह करोड़ों रुपए नहीं बहाना चाहती। क्योंकि पार्टी जानती है कि इन पैसों के जरिए वह और क्या-क्या काम कर सकते हैं। इस पैसे को असल मायनों में देश के विकास में लगाया जा सकता है।

4. नेताओं को कही ट्रैन से सफर करने की बात

आपको बता दें कि कांग्रेस ने चुनाव प्रचार के लिए अपने नेताओं को विमान यात्रा की जगह ट्रेन में सफर करने की बात कही है। ताकि चुनाव प्रचार पर उनका कम खर्चा हो सके। कांग्रेस बीजेपी की तरह अपने नेताओं पर ही पैसा नहीं बहाना चाहती।

5. पैसे की बर्बादी करने में माहिर बीजेपी

गौरतलब है कि राजनीतिक पार्टियां चुनाव प्रचार में पानी की तरह पैसा बहाती है। लेकिन यह पैसा इस देश की जनता द्वारा दिए गए टैक्स द्वारा ही जमा किया गया होता है। जिसका सरकार द्वारा दुरुपयोग किया जाता है और मोदी सरकार दो पैसे की बर्बादी करने में यूं ही माहिर है।

निष्कर्ष: कांग्रेस के राज में चुनाव प्रचार का तरीका काफी सही हुआ करता था। लेकिन अब बीजेपी जनता के पैसे का गलत इस्तेमाल कर जनता को ही मूर्ख बना रही है।

Story Source: https://timesofindia.indiatimes.com/india/dont-fly-take-train-congress-asks-leaders/articleshow/65790771.cms


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े