मुस्लिम लड़के ने बनाई ऐसी ‘बाइक’ कि बड़ी-बड़ी गाड़ियां भी हो गई फेल

शेयर करें

जैसा सब जानते हैं कि ये युग टेक्नोलॉजी का युग है, जिसमें आए दिन लोग कुछ न कुछ आविष्कार करते रहते है. और ऐसा ही कुछ यूपी के एक मुस्लिम लड़के ने कर दिखाया जिसे देख अब हर कोई हैरत में हैं.

मुस्लिम लडकें ने रच दिया इतिहास

दरअसल, मेरठ के एक मुस्लिम समुदाय के छात्र ने बिना तेल के चलने वाली मोटरबाइक बनाकर हर किसी को हैरान कर दिया है.

जी हाँ यूपी के मेरठ की मलिन बस्ती में रहने वाले इस छात्र ने एक ऐसी अद्भुद इलेक्ट्रोनिक बाइक बनाई है, जो कि 150 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से सड़कों पर दौड़ेगी.

इस बाइक की सबसे ख़ास बात ये हैं कि लडकें ने इसकों जिस तकनीक से बनाया हैं उसकी मदद से ये बिना तेल के भी चलने में सक्षम है.

बिना तेल वाली इस बाइक को बनाकर अब ये युवक दुनियाभर में चर्चाओं में हैं.

इस तरह की बाइक बनाने पर जब लड़के से पूछा गया तो उसने बताया कि,

“मैंने बहुत दिल से ये बाइक बनाई है, जिसे बनाने में मैं पूरी तरह कामियाब भी रहा.”

इंजीनियरिंग टॉपर ने बनाई बिना तेल वाली बाइक

 

जानकारी के अनुसार बाइक बनाने वाला छात्र ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग का छात्र हैं जिसका नाम वकार अहमद बताया जा रहा है.

वकार के परिवार वालों की माने तो वकार बचपन से ही पढ़ने में बहुत होशियार है. परिवार की माली हालत खराब होने के बाद भी उसमें पढ़ाई को लेकर जुनून है.

वकार दिल्ली इंस्टीट्यूटी ऑफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी के टॉपर भी रह चुके है.

जहाँ पढ़ाई करते हुए उसे इस शानदार इलेक्ट्रोनिक बाइक बनाने का आईडिया आया.

जिसपर अपनी मेहनत और लगन से काम करते हुए ही उन्होंने ऐसी बाइक बना दी जो कार को भी मात दे सकती है.

कीमत भी हैं बेहद कम

वकार की माने तो उसने अपनी इस बाइक को कार और बाइक के पुर्जो से जोड़कर बनाया है, जो चलने में जितनी खुबसूरत लगती हैं उतनी ही दिखने में भी खूबसूरत है.

बिना तेल के चलने वाली ये बाइक 150 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ती है.

साथ ही बिना इंजन वाली इस अनोखी बाइक की कीमत भी महज 72 हजार रूपए है.

ख़ास बात इस बाइक की ये भी हैं कि ये कार की तरह रिवर्स भी होती है .

इस बाइक को वकार ने अपने छोटे से घर में ही करीब 2 महीने की कड़ी मेहनत करके बनाया है.

जानिए बाइक में दिए गये कई अनोखे फीचर

 

बाइक में पावर बाइक्स की तरह चेन के बजाय बेल्ट का इस्तेमाल किया है.

साथ ही बता दें कि इसमें रि-जेनरेटरेबिल मोटर लगी है, जिससे मोबाइल और लैपटॉप भी जरुरत पढ़ने पर चार्ज किए जा सकते है.

इस बाइक में दूसरी बाइक की तरह न तो शोर होता है और न इससे किसी तरह का प्रदूषण फैलता है, यह फुल्ली ईको-फ्रैन्डली है.

इसकी टेक्नोलॉजी इतनी कारगर हैं कि इसमें हीटिंग और वाइब्रेट नहीं हो सकता.

वकार ने इस बाइक की मैन्टीनेंट का भी ख्याल रखा है, बता दें कि इसकी मैन्टीनेंट जीरो है.

जी हाँ आप सिर्फ एक एप की मदद से अपने ही घर में इसकी सर्विस करा सकते है, क्योंकि इसमें ड्राई बैटरी इस्तेमाल की गई है.

निष्कर्ष

मुस्लिम छात्र द्वारा न सिर्फ बिना तेल के चलते वाली बाइक का आविष्कार किया गया हैं बल्कि इसमें ऐसे-ऐसे फीचर भी दिए गये हैं जो आपको आम बाइक में भी नहीं मिलेंगे. इसका मतलब साफ़ हैं कि कई मायनों में ये बाइक बड़ी-बड़ी कारों को भी कड़ी टक्कर दे रही है.


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े