शेयर करें

बीजेपी नेता और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अप्रैल महीने की शुरुआत में ही मंत्रालय में आना छोड़ दिया था। वजह थी उनकी किडनी संबंधित बीमारी। इस समस्या से जूझ रहे अरुण जेटली का 14 मई को देश के प्रतिष्ठित मेडिकल संस्थान एम्स में किडनी ट्रांसप्लांट किया गया है।

1. तीन महीने की रेस्ट के बाद सदन में आये अरुण जेटली

3 महीने की रेस्ट के बाद अरुण जेटली कल संसद में नजर आए।  जिसके चलते राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने सदन में पहले ही यह चेतावनी दे दी थी कि कोई भी अरुण जेटली के करीब जाकर उन्हें छूने की कोशिश नहीं करेगा। क्योंकि डॉक्टरों ने अभी रिकवरी के चलते लोगों से मेलजोल कम से कम रखने के लिए कहा है। किडनी ट्रांसप्लांट सर्जरी की वजह से उन्हें इन्फेक्शन का काफी खतरा हो सकता है।

2. पक्ष-विपक्ष के नेताओं ने किया जोरदार स्वागत

इतने वक्त बाद अरुण जेटली के सदन में आने पर बीजेपी नेताओं के साथ-साथ विपक्ष के नेताओं ने भी उनका स्वागत मेज थपथपाकर किया। आपको बता दें कि संसद में राज्यसभा के उपसभापति चुनाव के चलते वोटिंग हुई। सदन में कुल 232 सदस्य मौजूद थे। राजग उम्मीदवार हरिवंश सिंह के पक्ष में 125 और विपक्ष के उम्मीदवार हरिप्रसाद के पक्ष में 105 मत पड़े। जिसमें हरिवंश सिंह की जीत हुई है।

3. पीएम मोदी से जेटली ने नहीं मिलाया हाथ

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें अपनी सीट से उठकर उन्हें बधाई देने के लिए गए। जब लौटकर अपनी सीट पर आ रहे थे तो उन्होंने अरुण जेटली को देखा और उनकी तरफ भी गर्मजोशी से हाथ बढ़ाया। लेकिन इस दौरान संसद में उनकी किरकिरी हो गई। क्योंकि अरुण जेटली ने उनकी तरफ अपना हाथ नहीं बढ़ाया बल्कि उन्हें हाथ जोड़कर नमस्ते कहा। जेटली ने मुस्कुराते हुए पीएम मोदी को इशारों में समझाया की वह इस वक़्त हाथ नहीं मिला सकते हैं।

4. सभापति ने पहले ही दिए थे जेटली को न छूने के आदेश

गौरतलब है कि संसद में पहले ही ये बता दिया गया था कि अरुण जेटली को कोई छुएगा नहीं। लेकिन पीएम मोदी ने होशियारी मारने की कोशिश की। लेकिन उनकी सारी होशियारी धरी की धरी रह गई।  वित्त मंत्री अरुण जेटली की अनुपस्थिति में वित्त मंत्रालय का कार्यभार रेलवे और कोयला मंत्री पीयूष गोयल संभाल रहे हैं।

निष्कर्ष:

आज सदन में अरुण जेटली की उपस्थिति से लग रहा है कि वह जल्द ही मंत्रालय जाना शुरु कर देंगे और अपनी जिम्मेवारी दोबारा अपने हाथों में ले लेंगे।

 

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें