RELATED:अगर सुप्रीम कोर्ट ने ये विडियो देख लिया तोह...

ये बात उस दौरान की है जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी श्री लंका दौरे पर निकले हुए थे और वह पर उन्होंने अंग्रेजी में वह के रष्ट्रपति की पत्नी का गलत नाम उच्चारण कर लिया था और सोशल मीडिया ने इस बात पर बहुत चुटकी ली थी l पर सोचा है की एक पत्रकार गलत नाम उचारण करे तो उसके साथ क्या होता है ? दूरदर्शन की एक पत्रकार ने भूलवश चाइना के राष्ट्रपति xi जिनपिंग को एलेवेन जिनपिंग पढ़ दिया था और बाद में उसे अपनी नौकरी गवानी पड़ी थी l बहरहाल यहा कुछ ही ऐसा ही नरेन्द्र मोदी ने l

क्या हुई थी मोदी से गलती

भारत के श्री लंका से सम्बन्ध कई मायनों में महत्वपूर्ण है जिसमे से चाइना को अपने विस्तार से रोकना भी है l मगर वह पर हुई पीएम से एक भूल जिसमे उन्होंने अंग्रेजी की कम समझ रखने का उदहारण दे डाला l मोदी ने श्रीलंका के प्रेसिडेंट श्रीसेना और उनकी पत्नी का नाम लेते हुए मीडिया को स्म्बोषित किया और तभी….एक विडियो वायरल हो गया l

नरेन्द्र मोदी कहते है सिरिसेना और उनकी पत्नी एम् आर एस सिरिसेना जब की उन्हें कहना था मिसीस सिरिसेना l यानि वो अंग्रेजी के शब्दों में उलझ गये l

पीएम का अंग्रेजी में भाषण देने के पीछे ये राज़ छिपा है!

दरअसल पीएम अंग्रेजी में भाषण देते वक्त टेलीप्रॉम्पटर का इस्तेमाल करते हैं। इस तकनीक के माध्यम से पीएम अंग्रेजी में अपने भाषण को धारधार और मजबूत बनाते हैं। गुजारत वाइब्रैंट समिट में मोदी ने तकरीबन 40 मिनट तक फर्राटेदार अंग्रेजी में अपना भाषण दिया।

 कैसे काम करती है ये तकनीक

दरअसल प्रधानमंत्री जिस मंच से बोल रहे थे वहां पर एक स्पीच टेलीप्रॉम्पटर लगा होता है। जो पारदर्शी ग्लास का होता है जो दूर से लोगों को नहीं दिखता है। इस टीपी प र भाषण या उसके मुख्य अंश लिखे होते हैं। जिसे पीएम के पीछे ही खड़ा एक व्यक्ति चलाता है। पीएम जैसे-जैसे अपना भाषण आगे पढ़ते जाते हैं वैस-वैसे उनके पीछे खड़ा व्यक्ति उस टीपी को आगे बढ़ाता जाता है।

देखिये वीडियो:-

--- ये खबर वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है वायरल इन इंडिया न्यूज़ पोर्टल के लिए

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े