शेयर करें

भारतीय मीडिया ने पत्रकारिता जिस तरीके से स्तर गिराया है उसे देखकर शर्म आती है | जिस मीडिया का काम सच दिखाना और लोगों तक जानकारी पहुंचाना होता है वो मीडिया लोगों को गुमराह करने और राजनीतिक लोगों के पर्सनल फायदों के लिए काम कर रही है जिससे देश में अशांति और दंगे वाले माहौल तक हो जाते हैं लेकिन ये लोग इस बात पर जरा भी ध्यान नहीं देते हैं |

अभी हाल ही में एक बार फिर से भारतीय मीडिया ने पत्रकारिता को शर्मसार किया है | न सिर्फ इलेक्ट्रोनिक मीडिया बल्कि प्रिंट मीडिया ने भी ऐसी खबर फैलाई है जिसे सुनकर हर सच्चे भारतीय को गुस्सा आना लाजिम है | इस किस्से को लेकर एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है इन दिनों सोशल मीडिया पर जिसकी हमने जांच की और आपके सामने सच्चाई लेकर आये हैं |

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा ये वीडियो

ये वायरल होने वाली वीडियो बुलंदशहर की बताई जा रही है और सारी की सारी मीडिया चीख चीखकर कह रही है कि ये वीडियो बसपा प्रत्याशी की जीत के बाद है और इसमें उनके समर्थकों द्वारा पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये जा रहे हैं | ऐसी जानकारी देते हुए मीडिया बाकयदा एक विस्तृत वीडियो भी चला रहा है |

लेकिन जब आप इसकी असली वीडियो देखेंगे तो असलियत कुछ और ही सामने आएगी लेकिन ऐसे में सवाल ये उठता है कि बसपा की प्रत्याशी बब्बू परवीन और उनके 150 समर्थकों के ऊपर जो धाराएँ लगी है वो वापस होगी? क्या मीडिया उनसे सार्वजानिक माफ़ी मांगेगा?

बब्बू मांगा करती हैं वतन की हिफाजत की दुआएं

जब बब्बू परवीन के परिवार वालों से इस बारे में बात की गयी तो मालूम हुआ कि बब्बू परवीन तो अक्सर अपने वतन की सलामती की दुआएं माँगा करती हैं कि हमारे देश में किसी भी प्रकार की को अप्रिय घटना न हो और हम सब मिलजुलकर एक साथ भाईचारे से रहें |

आपको बता दें कि अभी कुछ रोज पहले ओवैसी की भी एक पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए वीडियो वायरल हुआ था लेकिन बाद में वो भी फर्जी साबित हुआ |

देश को दंगों की आग में झोंकना चाहती है मीडिया

इस फर्जी वीडियो को लेकर जितने भी न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट ख़बरें दिखाकर जो गलत फैला रहे हैं क्या उनसे देश में सांप्रदायिक दंगे नहीं होंगे? क्या इसका जिम्मेदार इन्हें नहीं माना जायेगा? हमें पता करना चाहिए कि इन सबके पीछे कौनसा मास्टरमाइंड हैं क्योकि ऐसे और भी वीडियो पहले आ चुके हैं |लेकिन कोई भी वीडियो सच नहीं निकलता है |

इतिहास उठाकर देखें कि आज भी क्या जमाने से मुसलमान वतनपरस्त रहा है और रहेगा भी लेकिन चन्द सियासत वालें उनके खिलाफ नफरतें फ़ैलाने के काम में लगे हुए जिनसे हमें बचना चाहिए वरना देश में अशांति का माहौल होगा और देश दंगों की आग में जल जायेगा |

जो असली वीडियो हैं वो हम आपको दिखाते है और आप देखिये कि उसमे ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे नहीं बल्कि ‘हाजी इमरान जिंदाबाद’ के नारे लगाये जा रहे हैं लेकिन मीडिया कुछ भी दिखाने में लगी हुई है |

देखिये वीडियो:-

संघी मीडिया की फिर खुली पोल !ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें !सिकंदराबाद बुलन्दशहर की वीडियो जिसमे दिखाया जा रहा है उसमे मुस्लिम लड़के पाकिस्तान ज़िंदाबाद का नारा लगा रहे हैं जब Azamgarh Express बब्बो परवीन के पति इरशाद उर्फ भोलू से बात और वीडियो के बारे में बताया उन्होंने कहा वीडियो में छेड़छाड़ की गई है मैंने उनसे असली वीडियो मांगी उन्हीने जो वीडियो दी उसमे साफ आवाज़ आरही है हाजी इमरान ज़िंदाबाद सबसे बड़ा सवाल ये है आखिर मीडिया न्यूज़ चलाने से पहले वीडियो की जांच क्यों नही करती या जिनके बारे में बताया जाता उनसे पूछताछ क्यों नही करती !क्या मीडिया माफी मांगेगी या ऐसी ही खबर असली वीडियो के बारे में खबर चलाएगी जैसे मीडिया ने फर्ज़ी वीडियो वायरल की है वैसे ही आप असली वीडियो वायरल करें !दोनों वीडियो को मिक्स क्या है ताकि दोनों वीडियो देख लें

Azamgarh Express 发布于 2017年12月4日

source-http://www.socialawaz.com/2017/12/04/bikau-media-ne-felayi-bulandshehar-me-1316/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें