RELATED:अगर सुप्रीम कोर्ट ने ये विडियो देख लिया तोह...

असम इस समय दैवीय प्रकोप को झेल रहा है और वहां के बहुत सारे जिले बाढ़ की चपेट में हैं ! ऐसे में देश के कौने कौने से लोग यथासंभव उनकी मदद करने का प्रयास कर रहे हैं और बहुत से सामाजिक संगठन व बहुत सारे कॉर्पोरेट घराने भी इस मुस्किल समय में उन लोगों तक राहत सामग्री पहुँचाने का काम कर रहे हैं लेकिन ऐसे में बाबा रामदेव की पतंजलि ने जो बाढ़ पीड़ितों के साथ किया वो अमानवीय है !

क्या किया बाबा रामदेव ने

बाबा रामदेव खुद को सन्यासी कहते हैं पर इनके एक भी लक्षण सन्यासियों वाले नहीं लगते ! इन्होने तो सन्यासी के गुण छोडो मानवता को शर्मसार कर दिया ! असम में बाढ़ से जूझ रहे लोगों के बीच बाबा की पतंजलि आयुर्वेदा ने वहां पर एक्सपायरी डेट का सामान बटवा दिया ! इससे अच्छा तो मदद ही न करते तो ठीक था लेकिन ये जहर तो  न भेजते !

असम की लोकल मीडिया ने किया एक्सपोज

असम के स्थानीय टीवी चैनल टाइम 8 के एक वीडियो के मुताबिक पतंजलि ने मजुली जिले में करीब 12 लाख रुपये मूल्य का सामान भेजा है। इनमें से अधिकांश एक्सपायरी डेट की हैं। वहां स्थानीय मीडिया में यह खबर भी आई कि इन सामानों को इस्तेमाल करने के बाद कई लोग बीमार पड़ गए।

क्या कहा इस पर पतंजली वालों ने

मजुली जिले के पतंजली के शाखा प्रमुख रोहित बरुआ है और उन्होंने मीडिया से मुखातिब होते हुए बताया कि वहां पर 30 अगस्त को जो सामान बांटा गया जिसमे दूध पाउडर और जूस आदि शामिल थे वो सब एक्सपायर हो गये थे या फिर होने वाले थे !

उनका कहना है कि शुरुवात में उन लोगों ने नोट नहीं किया इस बात को लेकिन जब ये बाँट दिया गया और इसकी शिकायत आई तब इसका खुलासा हुआ !

टाइम 8 के वीडियो में दिख रहा है कि जिन सामानों पर एक्सपायरी डेट अक्टूबर 2016 लिखा है, उसे भी बाढ़ पीड़ितों के बीच बांट दिया गया। दूध पावडर के कुछ डिब्बों पर 5 सितंबर 2017 एक्सपायरी डेट लिखा था।

Source-http://www.jansatta.com/national/baba-ramdev-patanjali-big-fault-distributed-expired-goods-among-flood-affected-assam-peoples-became-ill-consuming/426492/

--- ये खबर वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है वायरल इन इंडिया न्यूज़ पोर्टल के लिए

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े