आख़िर क्यों होता है भैंस के दूध का रंग सफ़ेद और गाय के दूध का रंग पीला ?

गाय के दूध और भैस के दूध के रंग में इसलिए होता हैं अंतर, वजह जानकार उड़ जाएंगे होश

जैसा हम सभी जानते हैं कि अच्छी सेहत के लिए दूध पीना कितना जरुरी होता है क्योंकि दूध में विटामिन्स, कैल्शियम और प्रोटीन की प्रचुरता होती है जो एक स्वस्थ और मजबूत शरीर के लिए बेहद आवश्यक होती है.

गाय और भैंस के दूध के अलावा भी डिब्बाबंद दूध बन चला हैं पहली पसंद


दूध की मांग को देखते हुए आज आपको बाज़ार में दूध के बहुत से विकल्प मिल जाएंगे, जिनमें गाय के दूध और भैंस के ताजे दूध के अलावा अलग-अलग डेयरी से आने वाले दूध और डिब्बाबंद दूध भी शामिल हो चले है.

जिसे आज हर कोई अपनी सहूलियत, स्वाद और जरुरत को देखते हुए ही दूध का चुनाव कर रहा है.

यूँ तो हर प्रकार के दूध में बेहद आवश्यक पोषक तत्व मौजूद रहते हैं लेकिन पुराने समय से ही गाय और भैस के दूध को सभी में से बेहद विशेष महत्व दिया जाता रहा है.

ऐसे में गाय और भैस के दूध में मौजूद चौंकाने वाले फायदों को जानकर आप हैरान भी हो जाएंगे.

गाय के दूध के चमत्कारी फ़ायदे:


जी हाँ आपको सुनकर हैरानी होगी कि आयुर्वेद में विशेष महत्व रखने वाला इस गाय के दूध को अब एड्स जैसी घातक बीमारी से भी रक्षा करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है.

एक विशेष रिपोर्ट की माने तो मेलबर्न में हुए एक शोध के आधार पर ये बात सामने आई हैं कि गाय के दूध को एक ऐसी क्रीम में बदला जा सकता है जो एड्स की घातक बीमारी को दूर कर सकती हैं.

इतना ही नहीं, पुरुषों में स्पर्म काउंट कम होने की स्थिति में भी गाय का दूध हमेशा से ही फायदेमंद साबित हुआ है.

गाय के दूध का रंग पीला और भैंस का सफेद होने के पीछे का कारण


लेकिन अक्सर भैस और गाय के दूध को देखकर हम उनके अलग-अलग रंग के चलते असमंजस में पड़ जाते हैं.

जहाँ गाय का दूध हल्का पीले रंग का होता हैं तो वहीं भैस का दूध सफ़ेद रंग का देखने को मिलता है.

ऐसे में अगर अब आप ये सोच रहे हैं कि आखिर इनके दूध का रंग अलग-अलग क्यों होता हैं तो आज हम इस पहले से भी पर्दा उठा देते है.

गाय के दूध में हल्का पीलापन होता है


हमेशा से ही गाय के दूध को सर्वोत्तम आहार माना जाता रहा है.

मनुष्य की शक्ति एवं बल को बढ़ाने वाला गाय का दूध सबसे श्रेष्ठ माना जाता है.

गाय के दूध में कैल्शियम के साथ-साथ प्रोटीन भी पाया जाता है, ये प्रोटीन हलका पीले रंग का होता है.

गाय के दूध में कैरोटीन नाम का प्रोटीन होता है जिसके चलते गाय के दूध में हल्का पीलापन होता है.

भैंस का दूध होता है ज्यादा सफेद


पशु चिकित्सकों की माने तो भैंस का दूध गाढ़ा और मलाईदार होता है जिसकी वजह से ही दूध से दही, घी, पनीर, और मावा बनाया जा सकता है.

भैंस के दूध में भी प्रोटीन पाया जाता है और भैंस में कैसीन नामक प्रोटीन होता है जिसकी वजह से भैंस के दूध का रंग ज्यादा सफेद होता है.

भैस के दूध के चमत्कारी फ़ायदे:-


भैस के दूध के संदर्भ में कहा जाता हैं कि बच्चों का बौद्धिक विकास करने में भैस का दूध प्रभावी रहता है.

पाचन सम्बन्धी समस्याओं का निपटारा भी इसी भैस के सर्वश्रेष्ठ दूध से ही मुमकिन है.

टीबी के मरीजों के लिए भैस का दूध पीना बहुत फायदेमन्द रहता है.

हमेशा से ही कहा जाता हैं कि चेहरे पर कच्चे दूध की मसाज करने से चेहरा भी चमकदार और साफ हो जाता है.

निष्कर्ष


तो दोस्तों अगर आप भी अगली बार भैस और गाय के दूध के अलग-अलग रंग देखें तो ऊपर दी गई हमारे बातों को मत भूलियेगा…

story source: https://www.gaonconnection.com/bat-pate-ki/the-reason-behind-cows-yellow-coloured-milk-and-buffalos-white-colored-milk

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Leesha Senior Reporter

यह खबर वायरल इन इंडिया के वरिष्ट पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है| खबर में कोई त्रुटी होने पर हमें मेल के द्वारा संपर्क करें- [email protected] आप हमें इस फॉर्म से भी संपर्क कर सकते हैं, 2 घंटे में रिप्लाई दिया जायेगा |
Close