शेयर करें

भारतीय रेल सेवा दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। वहीं आपको जानकार हैरानी होगी की भारतीय रेल एशिया के सबसे बड़े रेल संचार में आता है। आज के समय में भारत की अर्थ व्यवस्था आधे से ज्यादा रेल के ऊपर ही निर्भर है। रेल परियोजना में करीब 16 लाख से भी ज्यादा कर्मचारी काम करते है।

वहीं भारतीय रेलवे पूरे भारत को कौने तक जोड़ती है। आज के दौर पर भारतीय रेल किसी आम इंसान की जिदंगी में लाइफ लाइन की तरह ही काम करती है। वहीं भारत की एक बड़ी आबादी रेल का सफर प्रतिदिन करती है। वहीं अब भारतीय रेल विशाल नेटवर्क के रुप में आ चुका है। आज किसी भी नौकरी पेशे वाले व्यक्ति के लिए रेल अहम काम करती है और वे उनको अपने समय से दफतर तक भी पहुंचाती है।

आज हम आपको भारतीय रेल से जुड़े कुछ तथ्यों के बारें में बताने जा रहे है। जिनके बारें में शायद ही आप जानते होगे। क्या आपको पता है कि भारतीय रेल के हर के इंजन पर 4 से 5 डिजिट की संख्या दी गई होती है क्या आप कभी इन नंबरों के बारें में जानते है। अगर नहीं जानते है तो आज हम आपको इन नंबर के महत्व के बारें में बताने जा रहे है।

पहले डिजिट से शुरुवात होने पर

0 से शुरूवात पर स्पेशल ट्रेन (समर, स्पेाशल और हॉलीडे)। 1 से शुरूवात पर काफी लंबी दूरी की ट्रेन, 2 से शुरूवात पर यह भी लंबी दूरी की ट्रेन को दिखाता है। वहीं 3 से शुरूवात पर यह कोलकाता सब अर्बन ट्रेन के बारे में बताता है। 4 से शुरूवात पर यह चेन्नई, नई दिल्ली, सिंकदराबाद और अन्य मेट्रोपॉलिटन शहर के बारे में बताता है।

5 से शुरूवात होने पर कन्वेंशनल कोच वाली पैसेंजर ट्रेन के बारे में बताता है। , 6 से शुरूवात पर मेमू ट्रेन 7 से शुरूवात पर यह डूएमयू और रेलकार सर्विस के लिए होता है। 8 से शुरूवात पर यह मौजूदा समय में आरक्षित स्थिति के बारे में बताता है। 9 से शुरूवात पर यह मुंबई क्षेत्र की सब-अर्बन ट्रेन के बारे में बताता है।

आपको बता दें कि किसी भी ट्रेन नंबर के दूसरे और उसके बाद की संख्या का मतलब पहले डिजिट के साथ होता है। वहीं किसी ट्रेन के पहले डिजिट 0,1 और 2 से शुरु होते है तो किसी ट्रेन के डिजिट डिविजन के बारें में बताते है।

इंडियन रेल इंजन

अगर किसी भी रेलवे इंजन के बारें में आपको जानना है तो आप इन नंबरों के द्वारा रेल के इंजन के बारें में जान सकते है। 0 कोंकण रेलवे के बारे में बताता है। वहीं 1 सेंट्रल रेलवे, वेस्ट-सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे के बारे में आपको बताता है। वही 2 सुपरफास्ट, शताब्दी, जन शताब्दी तो दिखाता है। इन ट्रेन के आगे के डिजिट जोन कोड को दिखाते है। 3 ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट सेंट्रल रेलवे के बारे में बताता है।

4 नॉर्थ रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे के बारे में दिखाता है। वहीं 5 नेशनल ईस्टर्न रेलवे, नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे के बारे में दर्शाता है। 6 साउथर्न रेलवे और साउथर्न वेस्टर्न रेलवे के बारे में दिखाता है। 7 साउथर्न सेंट्रल रेलवे के बारे में बताता है। 8 साउथर्न ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट कोस्टल रेलवे के बारे में दिखाता है। 9 वेस्टर्न रेलवे, नार्थ वेस्टर्न रेलवे और वेस्टर्न सेंट्रल रेलवे के बारे में दिखाता है।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें