जानिए आखिर क्यूँ हजारों सेना के जवान इस मुसलमान परिवार के लिए बन गये फ़रिश्ते ?

शेयर करें

सोशल मीडिया, अखबार और न्यूज़ चैनलों में हमेशा ये ही बताया जाता है कि कश्मीर के ज्यादातर लोग भारतीय सेना से नफरत करते हैं लेकिन अगर जमीनी हकीकत को खंगाला जाए तो धरती के इसी स्वर्ग पर आपको कुछ ऐसे लोग भी मिल जाएंगे जो देश के इन जवानों को भगवान मानते हैं. जी हां, कश्मीर के केरन सेक्टर में एक मुस्लिम परिवार आपको इसी मिसाल का उम्दा उदाहारण पेश करता नजर आ जायेंगा. आज हम आपको हिंदुस्तान के इसी मुसलमान परिवार से मिलवाएंगे.

source

हिन्दुस्तान का ये मुस्लिम परिवार बन रहा है लाखों लोगों की प्रेरणा

जहाँ एक ओर कई नेता अपने सियासी फायदे के लिए हिन्दू-मुस्लिम के मुद्दे को लेकर हमेशा ये दिखाते आए है कि देश का हर मुस्लिम हिन्दू और देश विरोधी है, तो ऐसे में केरन में रहने वाले इमाम अली का बेहद गरीब परिवार इन सभी लोगों के मुंह पर तमाचा मरता नजर आता है. इमाम अली दिन भर अपने छोटे से ठेले पर सब्जियां बेचता है. तब जाकर कही अपने परिवार के लिए दो वक्त की रोटी कमा पता है. इसके बावजूद भी इमाम अली और उनकी पत्नी अपने इलाकें में तैनात जवानों के लिए रोज दोनों टाइम का खाना खुद बनाकर भेजते हैं.

रोजाना खुद जवानों के कैंप तक खाना पहुंचाता है ये मुस्लिम परिवार

इतना ही नहीं इमाम खुद अपने ठेले पर रोजाना खाना रखकर जवानों के कैंप तक देकर आते हैं. उनका कहना है कि “हमारे फौजी हमारे लिए अल्लाह से बढ़कर हैं. वो दिन रात हमारी जान बचाते हैं. इसलिए हम उनका एहसान मानते हैं.”

कश्मीर के इस मुस्लिम परिवार से हिन्दू फौजी के साथ-साथ मुस्लिम फौजी भी खुशी खुशी खाना लेकर खा लेते हैं. वाकई खुद के परिवार चलाने से लेकर जवानों के लिए खाना तैयार करवाने तक के लिए इस मुस्लिम परिवार को कितना बड़ा दिल चाहिए ये आप खुद ही समझ सकते हैं. काश हर कश्मीरी परिवार और हमारे नेता इस गरीब परिवार से कुछ सीखे और हमारी सेना के साथ मिलाकर आतंक के खिलाफ लड़े.


शेयर करें