सुधीर चौधरी और समीर अहलूवालिया जिंदल से 100 करोड़ की उगाई के मामले में हुए गिरफ़्तार

देश के जाने-माने ज़ी न्यूज़ चैनल के ऊपर शुरुआत से ही बीजेपी सरकार समर्थक न्यूज़ चलाने जबकि कांग्रेस के खिलाफ़ खबरे प्रसारित करने के आरोप लगते रहे हैं. लेकिन जब उनके 2 वरिष्ट पत्रकारों की गिरफ्तारी हुई तो मानो ज़ी न्यूज़ की सत्यता को लेकर भी कई सवाल खड़े हो गये थे.

जी न्यूज चैनल के दो वरिष्ठ पत्रकारों की हुई थी गिरफ़्तारी

जी हाँ अगर याद हो तो साल 2012 में कोयला घोटाले से जुड़ी रिपोर्ट नहीं प्रसारित करने के लिए कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल ने जी न्यूज चैनल के दो वरिष्ठ पत्रकारों पर करीब 100 करोड़ रुपये की मोटी रक़म मांगने का आरोप लगाया था जिसके चलते पुलिस ने दोनों को गिरफ़्तार भी किया था.

जी न्यूज के प्रमुख और जी बिजनेस के प्रमुख पर लगे थे गंभीर आरोप

ये दोनों पत्रकार और कोई नहीं बल्कि पत्रकारिता के क्षेत्र के जाने में जी न्यूज के प्रमुख सुधीर चौधरी और जी बिजनेस के प्रमुख समीर अहलूवालिया थे. जिनपर गंभीर आरोप लगते हुए नवीन जिंदल ने एक सीडी भी जारी की थी, जिसमें कथित तौर पर जी न्यूज के दोनों वरिष्ट पत्रकार जिंदल ग्रुप के अधिकारियों से सौदा करते हुए कह रहे थे कि पैसे मिलने के बाद चैनल जिंदल ग्रुप के बारे में नकारात्मक स्टोरी प्रसारित नहीं करेगा.

पत्रकारों से पैसे मांगने की बात से किया था इनकार

हालांकि आरोपी सुधीर चौधरी ने इन सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि..

“यह आरोप साजिशन लगाया जा रहा है. यह दबाव बनाने की रणनीति है ताकि चैनल को इस तरह की रिपोर्ट प्रसारित करने से रोका जा सके. सरकारी दस्तावेजों केआधार पर कोयला घोटाले से संबंधित हमने ऐसी रिपोर्ट की सीरीज चलाई थी. यह हमारे भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान पर प्रतिक्रिया है.”

पत्रकारिता का गलत इस्तेमाल कर दोनों ने मांगे थे 100 करोड़ रूपये

उस समय जिंदल ने चैनल पर आरोप लगते हुए कहा कि चैनल में घोटाले में जबरन उनका नाम खींचा है. इस बात को लेकर जब उन्होंने बात उठायी तो दोनों पत्रकारों ने उनसे 100 करोड़ की मांग की, मना करने पर दोन उनके खिलाफ फ़र्जी खबरें दिखाने लग गये.

नवीन जिंदल ने किया था दोनों पत्रकारों का स्टिंग ऑपरेशन 

गौरतलब है कि करीब 5 साल पहले 25 अक्टूबर 2012 को ज़ी न्यूज़ में कोयला ब्लाक आंवटन में नाम आने पर कांग्रेस सांसद और उद्योगपति नवीन जिंदल ने एक स्टिंग ऑपरेशन की सीडी जारी कर देशभर में खलमली मचा दी थी. इस CD को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में जारी करते हुए उन्होंने स्टिंग ऑप्रेशन को दिखाया था. इस दौरान ही नवीन जिंदल ने कहा था कि..

“कोल ब्‍लॉक मामले में जी न्‍यूज उनके खिलाफ गलत खबर दिखा रहा था. जब इसके लिये हमने न्‍यूज चैनल से बात की तो मुझसे 20 करोड़ रुपये मांगे गये. बाद में ये रकम बढ़ाकर 100 करोड़ कर दी गई.”

पुलिस ने की थी दोनों की गिरफ्तारी

जिंदल के तमाम आरोपों से चैनल और दोनों आरोपी पत्रकार लगातार इनकार करते रहे लेकिन बावजूद इसके पुलिस ने दोनों को इस गंभीर आरोप में गिरफ़्तार करते हुए न केवल देश में बल्कि पत्रकारिता के क्षेत्र में भी खलबली मचा दी थी. कांग्रेस तब से ही ये कहती आई है कि इसी कारण के ज़ी न्यूज़ चैनल उनके खिलाफ़ खबरें चलाता आ रहा है.

Story Source: https://timesofindia.indiatimes.com/india/Two-Zee-editors-arrested-for-Rs-100-crore-extortion-bid/articleshow/17391903.cms

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Leesha Senior Reporter

यह खबर वायरल इन इंडिया के वरिष्ट पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है| खबर में कोई त्रुटी होने पर हमें मेल के द्वारा संपर्क करें- [email protected] आप हमें इस फॉर्म से भी संपर्क कर सकते हैं, 2 घंटे में रिप्लाई दिया जायेगा |
Close