शेयर करें
  • 59.4K
    Shares

हाल ही में प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में कांग्रेस की सरकार ने कमान संभाल ली है। मुख्य मंत्री कमलनाथ एक के बाद एक कई बड़े और क्रांतिकारी फैसले लिए हैं।

मध्यप्रदेश में सामने आये शिवराज सरकार के घोटाले

इसके साथ ही मध्य प्रदेश की पूर्व शिवराज सरकार के घोटालों और फर्जीवाड़ा की जांच भी तेजी से शुरू की जा चुकी है। अब खबर सामने आई है कि मध्य प्रदेश नियंत्रक और महालेखा परीक्षक यानी कि कैग की रिपोर्ट ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार पर एक बड़े घोटाले का आरोप लगाया है।

कैग की रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा

कैग की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में सरकार के वित्त विभाग ने इतना बेहिसाब और फिजूल खर्च किया है कि रिपोर्ट में राज्य में 8017 करोड़ की गड़बड़ियां सामने आई हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज ने ऐसे लूटा प्रदेश को

इस मामले में सूबे की कांग्रेस सरकार ने शिवराज सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि उनके कार्यकाल में हुई वित्तीय अनियमितताओं का खुलासा हुआ है। कैग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता सईद जाफर ने बताया है कि सार्वजनिक क्षेत्र में 1224 करोड़ रुपये का नुकसान है।

8017 करोड़ रूपये के घोटाले को दिया अंजाम

खबर के मुताबिक, शिवराज सरकार के कार्यकाल में छात्रावास संचालन में 147 करोड़ रुपये की अनियमितता, पेंच परियोजना में 376 करोड़ रुपये की अनियमितता हुई है। वहीं वाटर टैक्स में 6270 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। कुल मिलाकर राज्य में अनियमितता व नुकसान के जरिए 8017 करोड़ की चपत लगाई गई है।


शेयर करें
  • 59.4K
    Shares