OMG! लड़की ने चेहरे पर पीरियड्स का ब्लड पोतकर फेसबुक पर डाली पोस्ट, वजह जानेंगे तो चौक जायेगे !

शेयर करें

हर महीने महिलाओं को मासिक धर्म यानि पीरियड्स आना अनिवार्य है. ये प्राकृतिक नियम है जिसे कोई नहीं बदल सकता, लेकिन भारतीय समाज में इस नियम को किसी अभिशाप से कम नहीं माना जाता. यहाँ लोग एक दुसरे से इनके बारे में बात करना भी ठीक नहीं समझते.

भारत में महिलाओं के मासिक धर्म को हीन भावना से देखा जाता है

हमारे देश में इस प्राकृतिक नियम को लेकर लोगों ने अपने दिमाग में अलग-अलग धारणाएं बना ली है. इन्ही धारणाओं के चलते आज आपको कई घर ऐसे मिल जायेगे जहाँ 21वी सदी में भी पीरियड्स के दिनों में लड़कियों के साथ भेद भाव किया जाता है.

जब लड़की ने चेहरे पर लगाया पीरियड्स का ब्लड

अगर हिन्दू धर्म की बात करे तो इन दिनों में महिलाएं मंदिर जैसी धार्मिक जगहों पर जाने से परहेज़ करती हैं. आज लोग ये समझना नहीं चाहते कि विज्ञानिक नज़रिए से महिला को पीरियड्स आना बेहद जरुरी है, लेकिन सामज की इन्ही धारणाओं का विरोध करते हुए हाल ही में एक महिला ने जब अपने पीरियड्स का ब्लड अपने चेहरे पर लगाकर फेसबुक पर वीडियो शेयर की तो मानो सोशल मीडिया पर हडकंप मच गया.

जी हाँ..ऑस्ट्रेलिया की 24 वर्षीय याजमीना जेड नाम की इस महिला ने लोगों के मन से हीन भावना को मिटाने के लिए पीरियड्स का ब्लड जब अपने चेहरे पर लगाया तो मानो सोशल मीडिया पर लोगों को चर्चा का नया विषय मिल गया.

महिलाओं के सम्मान के लिए शेयर किया वीडियो

बता दें कि याजमीना एक स्पिरिट हीलर और फॉर्मर हेयरड्रेसर हैं. जिन्होंने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करते हुए अपने चेहरे पर पीरियड्स का ब्लड सिर्फ इसलिए लगाया ताकि लोग इसे हेय दृष्टि से न देखें और महिलाओं का सम्मान करे. उन्होंने जैसे ही अपनी तस्वीर फेसबुक पर पोस्ट की लोगों ने उसपर जमकर कमेंट्स करना शुरू कर दिया.

महिला को लोग बता रहे है मानसिक रोगी

दुनियाभर में वायरल होती याजमीना की इस तस्वीर और वीडियो पर लोग अलग-अलग प्रतिक्रिया दे रहे है. जहाँ कुछ लोग उनकी सोच का समर्थन कर रहे हैं तो वहीं कुछ लोग उनको मानसिक रोगी बताते हुए उनकी जमकर आलोचना कर रहे हैं.

सोशल मीडिया पर आलोचना करने वालों के मुंह पर ताला लगाने के लिए याजमीना ने बताया कि वह ये काम अपनी बॉडी को रीकनेक्ट करने के लिए करती है. जी हाँ उनका मानना है कि ऐसा करके वो लोगों की सोच बदल सकती हैं और उनको ये बता सकती है कि ये औरतों के शरीर का जरूरी हिस्सा भी हैं.

महिला का अब वीडियो हो रहा है वायरल

अपनी इसी सोच पर तर्क देते हुए याजमीना ने बताया कि “लडकियाँ अकसर अपने पीरियड्स को दुनिया और परिवार वालों से छिप कर अकेले में दर्द झेलती हैं. इसलिए वह चेहरे पर ब्लड लगा कर साबित करना चाहती हैं कि इन्हें किसी से छिपाने की कोई जरूरत नहीं है.”

देखिये वीडियो:-


शेयर करें