शर्मनाक…धार्मिक इस्थलों पे लाउडस्पीकर को लेकर आया योगी सरकार का ये नया फरमान !

शेयर करें

उत्तरप्रदेश में योगी सरकार ने एक नया आदेश निकाला है। नए आदेश के मुताबिक पुलिस की अनुमति के बिना अब किसी भी धार्मिक स्थल पर लाउडस्पीकर नहीं बजाए जा सकते है। हाईकोर्ट के आदेशों को पालना करते हुए आईजी (लॉ एंड ऑर्डर) ने सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों को इस बाबत् ये आदेश जारी किया है।

गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 20 दिसंबर 2017 को उत्तरप्रदेश की योगी सरकार से सवाल किया था कि लाउडस्पीकर किसके आदेश पर बजाए जा रहे है?

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने इस संबंध में जनहित याचिका पर कार्रवाई करते हुए उत्तर प्रदेश के गृह सचिव, मुख्य सचिव और राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) के प्रमुख को तलब किया था। जनहित याचिका में मंदिर और मस्जिद में लाउडस्पीकर बजाने को लेकर ये मुद्दा उठाया गया था।

क्या आदेश दिया है कोर्ट ने…?

कोर्ट ने कहा है कि अब से किसी भी अवसर पर सार्वजनिक रूप से लाउडस्पीकर बजाने के लिए प्रशासन की अनुमति लेनी आवश्यक होगी। प्रशासन भी निर्धारित शर्तों के अनुसार ही इसकी इजाजत देगा।

तय सीमा से अधिक लाउडस्पीकर बजाने व बिना अनुमति इसका इस्तेमाल किए जाने पर उत्तरदायी लोगों पर कार्रवाई की जाएगी। कोर्ट के मुताबिक ध्वनि प्रदूषण (विनियमन और नियंत्रण) नियम, 2000 के अनुसार किसी भी जगह पर रात 10 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

क्या है नियम..?

इन नियमों के बावजूद भी यूपी सरकार इसका पालन नहीं कर रही है। कोर्ट ने इन नियमों को लेकर यूपी सरकार को फटकार लगाई, तब जाकर सरकार ने लाउडस्पीकर बजाने को लेकर सख्ती दिखाने का आदेश दे डाला है। यूपी सरकार ने कोर्ट के आदेशों की पालना के संबंध में सर्कुलर भी जारी किया है।

अब देखना यह बाकी है कि इन नियमों का पालन हो सकता है कि नहीं। क्योंकि लोगों के ऊपर कितने भी कानून बना लिए जाए। परंतु बहुत ही कम लोग होते हैं जो कानून के नियम का पालन करते हैं।

कुछ लोग कानून से डरते भी नहीं है ऐसे में देखना यह बाकी है कि इस तरह के नियम बनाने के बाद क्या लोग लाउड स्पीकर बजाना बंद कर देंगे या पहले जैसे ही सब कुछ होगा।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े