शेयर करें
  • 12.2K
    Shares

Kamal Nath CM of MP
Kamal Nath CM of MP

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के साथ ही कमलनाथ पूरे एक्शन में हैं. किस तरह से मध्य प्रदेश में बेरोजगारी का दंश झेल रहे युवाओं को रोजगार मिले, इसके लिए सीएम कमलनाथ अपनी कोशिशों को अंजाम देने में जुट चुके हैं.

कमलनाथ का मानना है कि मध्य प्रदेश संभावनाओं से भरा प्रदेश है. यहां के युवाओं में अद्भुत क्षमता है जो राज्य को विकास की ओर ले जा सकते हैं.


विदेश यात्रा पर जाएंगें कमलनाथ


स्विटजरलैंड के दावोस में 21 दिसंबर से लेकर 25 दिसंबर तक इंटरनेशनल वर्ल्ड इकोनॉमी कॉन्फ्रेंस आयोजित होने जा रहा है जिसमें दुनिया भर के नामचीन उद्योगपतियों का जमावड़ा होगा.

दुनिया के अलग अलग हिस्सों में औद्योगिकरण को लेकर विमर्श होगा.

कमलनाथ के साथ इस यात्रा में पीएस अशोक वर्णवाल और मोहम्मद सुलेमान समेत राज्य के 05 उद्योगपति भी साथ होंगें.


शपथ ग्रहण के बाद पहली यात्रा


बताते चलें कि शपथ ग्रहण के बाद यह कमलनाथ की पहली विदेश यात्रा होगी. अनुमान लगाया जा रहा है कि कमलनाथ की इस यात्रा से मध्य प्रदेश को कुछ न कुछ नया तोहफा जरुर मिलेगा.

कमलनाथ से मध्य प्रदेश की जनता का ढेरो उम्मीदें हैं. विशेष तौर पर रोजगार के मुद्दे और किसानों की बदहाली को लेकर मध्य प्रदेश के लोग कमलनाथ की ओर टकटकी लगाए देख रहे हैं.


नायक के अनिल कपूर के स्टाईल में

Kamal Nath is not joining Bharatiya Janata Party anytime soon


सीएम कमलनाथ ने जिस दिन से शपथ लिया है, उस दिन से वो बिना थके, बिना रुके प्रदेश की बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं.

कमलनाथ के उद्योगपतियों से काफी अच्छे संबंध हैं. इसी वजह से कयास लगाए जा रहे है कि उनके इन संबंधों और अनुभवों का लाभ प्रदेश की जनता और विशेष कर रोजगार के क्षेत्र में मिलेगा.

वहीं कमलनाथ का राज्य के मूल निवासियों को नौकरियों में 70 प्रतिशत भागीदारी की खबर से भी युवाओं में बेहद उत्साह है.


निष्कर्ष :


कमलनाथ न सिर्फ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बनें हैं बल्कि वो प्रदेश की जनता की उम्मीदा की किरण हैं. हम उनके सफलतम कार्यकाल की कामना करते हैं.


शेयर करें
  • 12.2K
    Shares