कैंसर की बीमारी से नहीं बल्कि इलाज न मिलने से होती है मौत, अब यह घरेलू नुस्खा करेगा आपकी मदद

शेयर करें

आज की हमारी जीवनशैली ही इस तरह की हो गई है कि हर एक व्यक्ति को किसी न किसी गंभीर बीमारी के चपेट में देखा जा रहा है। वहीं अगर हम गौर करें तो आज के समय में खाने पीने की आदतें व हमारा शारीरिक कसरत से दूर रहना यह सभी कुछ ऐसी चीजें हैं जो हमें हमारी अच्छी सेहत से दूर कर हमे बीमारियों की तरफ ले जा रही हैं।

आज की जीवनशैली में होती गंभीर बीमारियां

वहीं दूसरी तरफ ऐसी भी कई गंभीर बीमारियां हैं जो कि लाइलाज हैं और साइंस भी इनका तोड़ निकालने की कोशिश में लगा हुआ है।

क्योंकि अगर हम सभी जानते हैं कि इस तरह की बीमारियां जानलेवा हो सकती हैं तो उसके लिए जरुरी है कि हम समय रहते ही अपने खान पान पर ध्यान दें और खुद के स्वास्थ्य को सेहतमंद व तंदरुस्त बनाए रखें।

घरेलू नुस्खे हैं हमेशा कारगर

आपको शायद घरेलू नुस्खों व इलाजों के बारे में जानकारी होगी, आज भी हम आपको ऐसे ही एक घरेलू उपाय के बारे में बता रहे हैं जो आपको कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बचाए रखता है।

अगर आप भी इस घरेलू उपाय को नियमित रुप से अपनाएंगे तो न केवल आप कैंसर से बचे रहेंगे बल्कि आपको अन्य सेहत से जुड़ी परेशानियां भी नहीं होंगी।

हल्दी में हैं कई चमत्कारी गुण

हमारे किचन में हर समय मौजूद रहने वाला हल्दी कितना ताकतवर होता है यह तो हम जानते ही हैं, इसमें कई ऐसी बीमारियों से लड़ने की शक्ति होती है जिसमें से कैंसर भी एक है।

आपको बता दें कि हल्दी में एक तत्व होता है जिसे करक्यूमिक कहा जाता है हल्दी का यही गुण कैंसर से लड़ने में रामबाण के समान है। अगर आपको भी कैंसर होने का खतरा है तो बस आप हल्दी का सेवन कुछ इस तरह से शुरु कर दीजिए।

कैंसर की बीमारी से नहीं बल्कि इलाज न मिलने से होती हैं मरीजों की मौत 

आपको शायद इस बारे में जानकारी न हो कि 90 फिसदी लोग कैंसर की बीमारी से नहीं बल्कि उसका इलाज न मिलने से मर जाते हैं। वहीं अगर कोई मरीज अपना कीमो करवाना शुरु कर दें फिर उसका नॉर्मल होना मुश्किल हो जाता है।

राजीव दीक्षित भाई ने अपने कई ऐसे मरीजों को ठीक किया है जिन्हें कैंसर की बीमारी थी। उनके द्वारा बताया गया इलाज था भारतीय गौमूत्र, हल्दी और पुननर्वा। आप इस तरह से कैंसर से खुद को बचा सकते हैं।

आइये बताएं कि कैसे मिल सकती है आपको यह सामग्री

देसी गाय को अपने आस पास कहीं भी आसानी से मिल जाएगी, नहीं तो आप गौशाला भी जा सकते हैं।

इसके लिए आप खास ध्यान रखें कि गाय काली और गर्भवती न हो, बेहतर होगा कि आप किसी छोटी गाय का ही गौमूत्र लें।

इस तरह से तैयार करें कैंसर की घरेलू दवाई

सबसे पहले इस गौमूत्र में एक चम्मच हल्दी मिलाएं और इसे 10 मिनट तक धीमी आंच में उबलने दें।

जब यह उबल जाए तो इसके बाद इसे नॉर्मल रुप से ठंडा होने दें औऱ इस तरह से आपकी यह दवा तैयार हो जाएगी।

फिर आप इसे छानकर कांच की बोतल में डाल दें।

इसके तैयार होने के बाद इसे दवा के रुप में रोज सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले और दिन में कम से कम 3 बार 10-10 मिली लीटर लें।

इसके साथ ही नियमित रुप से अपना चेकअप भी करवातें रहें। इसके साथ ही आपको पता चलेगा कि आपको अच्छे परिणाम मिल रहे हैं।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े