जिस पार्टी के नेता ताजमहल को भारत की संस्कृति पे धब्बा बता रहे है वही सरकार कुछ इतना कमाती है ताजमहल से

जो सरकार आज सबसे ज्यादा ताजमहल से कमा रही है उसी के पार्टी के नेता ने ताजमहल को भारतीय संस्कृति पे धब्बा बता दिया था | ताजमहल की गिनती आज भारत के उन पर्यटक स्थलों में होती है जहा से एक मोटी रकम सरकार के खाते में जाती है |

हाल ही में बीजेपी के जाने माने विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को लेकर एक विवादित बयान दिया था और वो ताजमहल को उत्तर प्रदेश के पर्यटक स्थलों में शामिल करने के खिलाफ भी थे | जिसके बाद पता लगाया गया की ताजमहल समेत जितनी भी मुस्लिमो द्वारा बनाई गयी इमारते है उनसे कितना पैसा कमाती है सरकार |

केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री महेश शर्मा ने किया खुलासा


ताजमहल पर चल रही इस बहस के दौरान महेश शर्मा का वो बयान दौहराया जा रहा है जिसमे उन्होंने कहा की सरकार को सबसे ज्यादा ताजमहल से लाभ हुआ है | इसी साल 20 मार्च को लोकसभा में एक सवाल के जवाब में  केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री महेश शर्मा ने बताया की ताजमहल से सरकारी ख़ज़ाने में तक़रीबन 17 करोड़ 87 लाख रूपए आए | यह आमदनी 2015-16 के दौरान हुई थी |

महेश शर्मा ने आगे कहा की ये कमाई टिकटों की बिक्री के ज़रिए हुई थी और इसकी कमाई सरकारी ख़ज़ाने में जाती है | कमाई से अंदाजा लगाया जा सकता है की सिर्फ भारतीय ही नही विदेशीयो में भी ताजमहल को लेकर एक क्रेज है | महेश शर्मा ने बताया की इसके रखरखाव में 3.66 करोड़ रुपये ख़र्च किए गए थे |

ताजमहल ही नही, मुगलकाल की ये इमारते भी सरकार को राजस्व प्रदान करती है

बहस की चपेट में सिर्फ ताजमहल ही नही बल्कि मुगलकाल की कई खुबसूरत इमारते भी आ चुकी है जबकि यही सरकार को सबसे ज्यादा फायदा पहुचाती रही है | सरकार को अब तक जिन मुस्लिम शासको द्वारा बनवाई गयी इमारतो से फायदा हुआ है वो है- ताजमहल, लाल किला, हुमायु का मकबरा, क़ुतुब मीनार, आगरा का किला | आगरा का किला से 13.42 करोड, क़ुतुब मीनार से 10.85 करोड़, लाल किला से 6.16 करोड़, हुमायु का मकबरा से 6.07 करोड़ का लाभ सरकारी खजाने में पहुचा |

ताज महल और दिल्ली का लाल क़िला शाहजहां ने बनवाया था | क़ुतुब मीनार की नींव दिल्ली सल्तनत के संस्थापक क़ुतुबउद-दीन ऐबक ने रखी थी | अब कोई पूछे संगीत सोम सरीखे मंत्रियो से की जिन्हें वे धब्बा कह रहे है वो ही भारत के खजाने को मजबूत बनाते है |

http://www.bbc.com/hindi/india-41665429

 

 

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े

पोपुलर खबरें