शेयर करें

क्या कभी किसी की मौत को जश्न के तौर पर देखा है? शायद नही, क्योकि जब किसी अपने की मृत्यु होती है हम अक्सर गम में डूब जाते है और खुद के जीवन के नीरस बना लेते है | लेकिन यहाँ पिता की मौत पर उनकी चार बेटिया नाच गा रही थी और लोग ये देख काफी ज्यादा हैरान थे |

हैरानी की बात तो है ही, ढोल बज रहे है, उनकी बेटिया नाच रही है, पिता का शव कन्धो में है | अब ये मंजर सोचने में ही हैरानी में डालता है की ऐसा कैसे हो सकता है | तो आइये जानते है की इसके पीछे क्या वजह है |

सड़क से आने जाने वाले लोग रुक रुक कर यह नज़ारा देख रहे थे

दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक सड़क पर ढोल, नगाड़े, संगीत की आवाज़ और उस पर थिरकती चार लडकिया ने सड़क से आ जा रहे सभी लोगो का ध्यान अपनी और खीचा | इसे देखने के लिए लोगो का विशाल हुजूम सड़क पर जमा हो गया | लेकिन बाद में जब लोगो ने नज़दीक आकर देखा तो वो हैरान रह गये |

जब लोगो ने पूछा की यह अंतिम यात्रा किसकी है और इसे ढोल बाजे के साथ क्यों ले जाया जा रहा है? तो जवाब मिला की ये शव यात्रा है नोएडा के मशहूर कारोबारी हरी भाई लालवानी की जिसे उनकी बेटियों ने अपने कंधे पे उठाया हुआ था |

मृतक की इच्छा थी की उसकी मौत पे कोई भी आंसू न बहाए 

कारोबारी हरी भाई लालवानी की अंतिम इच्छा ये थी की वह जब दुनिया को अलविदा कहे तो उनकी अंतिम यात्रा उत्सव के रूप में मनाई जाए | उनके कोई बेटा नहीं है, इसलिए पत्‍‌नी मधु लालवानी सहित चारों बेटियां अनिता लालवानी, दीप्ति लालवानी, रितिका लालवानी, यामिनी लालवानी पिता की अंतिम इच्छा को पूरा कर रही हैं।

और जानने के लिए विडियो देखना न भूले

देखिये वीडियो:-

http://www.jagran.com/delhi/new-delhi-city-daughters-dance-in-his-fathers-funeral-procession-17018456.html

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े