योगी राज में इंसानियत हुई एक बार फिर शर्मसार जब 7 साल की बच्ची से सिपाही ने पार की हैवानियत

शेयर करें

योगी के प्रदेश में एक बार फिर इंसानियत शर्मसार हुई जब ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर कस्बे में बीते बुधवार दोपहर 7 साल की बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न का रुंह कंपा देने वाला मामला सामने आया. प्रदेश में योगी सरकार की बर्बर अर्थव्यवस्था पर एक बार फिर सवाल खड़े होते हुए इस घटना का आरोप प्रदेश के सेल टैक्स में तैनात एक सिपाही पर लगा है.

source

जानिए क्या है पूरा मामला?

दरअसल, 7 साल की पीड़ित बच्ची अपने घर के बाहर खेल रही थी जिसे आरोपी सिपाही ने पहले तो 10 रुपये का नोट दिखाकर कमरे में बुलाया और फिर उसके साथ हैवानियत की सारी हदे पार की. इस बात की खबर जैसे ही मासूम के परिजनों को लगी तो अगली सुबह आरोपी सिपाही के ड्यूटी पर लौटते ही परिजनों और पड़ोसियों ने उसे दबोचकर उसकी जमकर पिटाई की और बाद में कही उसे पुलिस को सौंप दिया. जहाँ पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर उसे जेल भेज दिया है.

source

बच्ची के पिता का पहले ही हो चूका है देहांत

जानकारी के लिए बता दें कि पीड़ित मासूम के पिता की मौत पहले ही हो चुकी है जिसके चलते उसकी मां अपने पांच बच्चों को पालने के लिए नौकरी करती है. नौकरी पर जाते हुए बच्ची की माँ अपने घर से करीब 500 मीटर दूरी पर बच्ची की मामी के घर उन्हें छोड़कर जाती हैं. यहीं मामी के पड़ोस के मकान में पहली मंजिल पर ही आरोपी सिपाही सुभाष सिंह भी रहता है.

source

बच्ची की आवाजे सुनकर पड़ोसियों ने की उसकी मदद

रोज़ाना की तरह बीते बुधवार को भी जब बच्ची की मां बच्ची और अपने तीन साल के बेटे को उसकी मामी के घर छोड़कर ड्यूटी पर गई थी तो इसी दौरान ही वहशी सिपाही कमरा बंद करके बच्ची के साथ हैवानियत करने लगा जिसके चलते बच्ची रोने भी लगी.

बच्ची की रोने की आव़ाज सुनकर पड़ोस में रहने वाले युवकों ने दरवाजा खुलवाने का प्रयास भी किया, लेकिन सिपाही अपनी पॉवर की धोस देकर उन्हें ही धमकाने लगा. बाद में युवकों ने मकान मालिक को बुलाकर सिपाही के कमरे का दरवाजा खुलवाया और बच्ची व उसके छोटे भाई को कमरे से बाहर निकाला, लेकिन आरोपी मौका पाते ही वहां से भाग निकला.


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े