शेयर करें

दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे हिन्दू राजा की कहानी सुनाएंगे जिसनें सत्ता के लालच में अपनी ही सगी बहन से जबरन शादी कर भाई-बहन के पवित्र रिश्ते को तार-तार कर दिया था.

जब हिन्दू राजा ने अपनी ही सगी बहन से किया विवाह

ये बात है सन 700 ई. की जब मोहम्मद बिन क़ासिम की आयु महज 6 साल थी, और उस समय सिंध के राजा दाहर गद्दी पर बैठे थे. उस समय सिंध 2 भागो मे बंटा हुआ था 1 भाग की राजधानी अरोड़ थी जिसे अलवर भी कहा जाता था. दूसरे भाग के राजा की राजधानी ब्राह्मनाबाद थी उस का नाम भी यही था, लेकिन वो 1 साल के बाद मर गया.

अपनी गद्दी के लोभ में रिश्तों को किया तार-तार

उसके मरते ही राजा दाहिर के छोटे भाई दहरसेना ने उसके राज्य पर क़ब्ज़ा कर लिया. लेकिन अपनी गद्दी बचाने के लिये राजा दाहिर ने जिस प्रकार अपनी ही बहन से शादी की थी उसे इतिहास के सबसे भयावह रूप में देखा जाता है.

राज्य के पण्डित और ज्योतिषी ने गद्दी जाने की बात पर किया था राजा को सचेत 

जानकार बताते हैं कि एक बार राजा दाहिर को 2 पण्डित और 2 ज्योतिषी मिले जिन्होंने उससे कहा कि हमने आपकी बहन माई रानी की कुंडली देखी है, जिसे देख ये पता चलता है कि मई रानी की जिस भी पुरुष से शादी होगी वो सिंध का राजा बनेगा.

बहन के पति से मौत मिलने से डर गया था हिन्दू राजा

ज्योतिषियों ने बताया कि यूँ तो अभी इस गद्दी पर आप बैठे हुए हैं लेकिन बहन की शादी के बाद उसका पति आपकी हत्या कर आपकी गद्दी हथिया लेगा. जिसके बाद जयोतिष और पंडित के चले जाने के बाद राजा दाहिर ने इस बात पर विचार-विमर्श करते हुए इस बात का समाधान निकाला और अपनी सगी बहन से शादी करने का फैसला लिया.

निष्कर्ष

यूँ तो भाई-बहन का रिश्ता दुनिया के तमाम रिश्तों में से सबसे पवित्र होता है लेकिन बेहद दुःख होता है जब इस तरह कोई हिन्दू राजा महज सत्ता के लालच में इस पवित्र रिश्ते को तार-तार करते हुए अपनी बहन को अपनी बीबी बना लेता है. वाकई धितकार है ऐसे राजाओं पर.

story source-https://votergiri.com/%E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%B9%E0%A4%AE%E0%A4%A3-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%9C%E0%A4%BE-%E0%A4%A6%E0%A4%BE%E0%A4%B9%E0%A4%BF%E0%A4%B0-%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%85/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें