शेयर करें
  • 45.4K
    Shares

साल 2014 में अच्छे दिन के स्लोगन से केंद्र की सत्ता में पैर जमाने वाली भारतीय जनता पार्टी के आज इतने बुरे दिन आ गए हैं कि पार्टी के दिग्गज नेताओं से लेकर छोटे-मोटे नेता भी आम जनता के निशाने पर आ रहे हैं। हाल ही में ऐसी कई खबरें सामने आ चुकी है। जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर पार्टी के छोटे-मोटे नेताओं को भी काले झंडे दिखाए जा रहे हैं।

असम में बीजेपी का हो रहा जमकर विरोध

गौरतलब है कि बीते ताल से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह का इतना विरोध हुआ है कि उन्हें कई कार्यक्रमों से उल्टे पांव भागना पड़ा है अब खबर सामने आ रही है कि असम में नागरिकता बिल 2016 का विरोध जमकर हो रहा है।

बीजेपी कार्यालय पर प्रदर्शनकारियों ने किया हमला

इसी बीच इस बिल का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने गुवाहाटी में बीजेपी के कार्यालय में तोड़फोड़ कर डाली है। खबर के मुताबिक गुवाहाटी के पलाशबारी इलाके में सिद्ध बीजेपी के कार्यालय पर ओइक्या सेना असम से जुड़े प्रदर्शनकारियों ने हमला बोल डाला।

फूंके के पीएम मोदी और असम के सीएम के पुतले

पुलिस ने बताया है कि प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के पुतलों को जलाया है। इसके साथ ही प्रदर्शनकारियों ने मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए नेशनल हाईवे को भी जाम कर डाला। जिसके बाद पुलिस ने सभी प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया है।

नागरिकता बिल के खिलाफ लोगों में नाराजगी

बताया जा रहा है कि यह विरोध तब से शुरू हो गया था जब केंद्रीय मंत्रिमंडल ने उस बिल को लोकसभा सदन में पास किया, जिसमें नागरिकता अधिनियम, 1955 में संशोधन किया जा रहा है। इसका बिल का मकसद अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के अवैध हिंदु सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई धर्म के लोगों को भारत की नागरिकता दिया जाना है।


शेयर करें
  • 45.4K
    Shares