कोई भी नहीं दे रहा भाजपा को भाव, अब इस बड़ी पार्टी ने भी मार दी भाजपा के मुहं पे लात

शेयर करें

देश में चुनावी मौसम जितना करीब आ रहा है उतना ही पार्टियां आय दिन अपने हर मुमकिन दांव पेंच आजमाने का मौका नहीं छोड़ रही हैं। दो मुख्य पार्टी बीजेपी व कांग्रेस से लेकर हर विपक्षी पार्टी आने वाले चुनावों में अपनी पकड़ बनाने के लिए अपनी रणनीति तैयार कर रही है।

2019 का चुनाव बनता जा रहा बीजेपी के लिए चुनौती

इन सबके बीच दिनोंदिन बीजेपी के लिए चुनौतियां अलग से ही बढ़ती जा रही हैं। जहां काफी दिनों से आंध्र प्रदेश में तेलुगू देशम पार्टी के साथ बीजेपी का गठबंधन खतरे में नजर आ रहा है।

वहीं इन दिनों कई सहयोगी पार्टियों ने 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले ही एनडीए से खुद को अलग करने का फैसला कर लिया है।

जहां अब तक टीडीपी और बीजेपी का विवाद सदन में अविश्वास प्रस्ताव पेश करने की नौबत तक पहुंच गया है।

टीडीपी के बाद अब इस पार्टी ने भी छोड़ा साथ

अब स्‍वाभिमानी शेतकारी संगठन (एसएसएस) ने बीजेपी की नरेंद्र मोदी सरकार पर किसानों के साथ धोखा करने का आरोप लगा दिया है।

एसएसएस ने मोदी सरकार पर वादे पूरे न करने का आरोप लगाया है।

पार्टी के नेता राजू शेट्टी ने सोमवार को कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता व महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री अशोक चह्वाण के साथ दिल्‍ली में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी संग मुलाकात की थी।

इसके बाद राजू शेट्टी ने कांग्रेस अगुवाई वाली यूपीए में शामिल होने का ही ऐलान कर दिया।

राहुल से मुलाकात करने के बाद एसएसएस नेता ने कहा, ‘बीजेपी ने भारत के किसानों के साथ धोखा किया है।

मैं मोदी के उस वादे के बाद NDA में शामिल हुआ था, जिसमें उन्‍होंने स्‍वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने की बात कही थी।

वादों पर अमल को तो भूल जाइए, उन्‍होंने तो फसलों की कीमतें भी कम कर दीं।

मोदी सरकार ने दिया धोखा- राजू शेट्टी

इसलिए किसानों का नेता होने के नाते मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि यह पार्टी (बीजेपी) दोबारा सत्‍ता में वापसी न करे।’

आपको बता दें कि स्‍वाभिमानी शेतकारी संगठन और NDA के रिश्‍तों में काफी समय पहले से ही कड़वाहट आ गई थी।

उस दौरान ही एसएसएस ने एनडीए से अलग होने की बात कर दी थी।

इसके बाद शेट्टी की पार्टी कांग्रेस के नेतृत्‍व में निकाली गई रैली संविधान बचाओ में शामिल हुई थी।

राजू शेट्टी लगातार करते रहे बीजेपी पर हमला

एसएसएस नेता राजू शेट्टी पिछले कुछ महीनों से लगातार बीजेपी सरकार पर निशाना बनाते आ रहे हैं।

उनका हमला खासतौर से किसानों की स्थितियों को लेकर रहा है।

कुछ दिनों पहले ही महाराष्‍ट्र के हजारों किसान अपनी मांग के साथ मुंबई पहुंचे थे।

किसानों की मांगे न सुनी जाने पर विधानसभा को घेरने की घोषणा की गई थी।

आपको बता दें कि ये किसान नासिक से पैदल चलकर मुंबई आए थे।

महाराष्ट्र सरकार का रवैया

फड़नवीस सरकार को किसानों की इन मांगो के आगे झुकना ही पड़ा था। जिसके बाद किसानों का प्रदर्शन कुछ कम हुआ था।

किसानों के आंदोलन को कई राजनीतिक दलों का भी समर्थन मिला था।

आंध्र प्रदेश की टीडीपी कर रही अपनी मांग तेज

आंध्र प्रदेश खुद को विशेष राज्‍य का दर्जा दिलाने के लिए अपनी मांग के आगे पहले ही NDA से अपने रिश्ते तोड़ चुका है।

विशेष दर्जे को लेकर आंध्र की विपक्षी पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाने का नोटिस दिया था।

शुरुआत में NDA से अलग न होने की बात करने वाले राज्‍य के मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को आखिरकार केंद्र में सत्‍तारूढ़ गठबंधन से अलग होकर अविश्‍वास प्रस्‍ताव का समर्थन करने का फैसला करना पड़ा था।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े