इस बार सीधे मोदी को देंगे टक्कर अखिलेश यादव, वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे, मोदी की हवा टाइट - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

इस बार सीधे मोदी को देंगे टक्कर अखिलेश यादव, वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे, मोदी की हवा टाइट

देश की सियासत में कब किस तरह से नया मोड़ आ जाए यह कहा नहीं जा सकता। पार्टियों से लेकर राजनेताओं तक सभी अपनी सियासत को चमकाने में रहते हैं। वहीं जब चुनाव का समय करीब हो तो यह मुकाबला और बढ़ जाता है। फिर तो क्या राजनीतिक दल और क्या सियासत सब कुछ यहां जायज हो जाता है।

सियासत में नरेंद्र मोदी के बदलने वाला है वक्त

आपको बता दें कि मौजूदा समय में देश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। वहीं हाल ही के समय में पार्टी ने खुद का विस्तार भी किया है। लेकिन जहां दिल्ली से देश की सरकार चला रहे प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी सीट से उनके लिए नई चुनौती खड़ी हो सकती है।

आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से एसपी प्रमुख अखिलेश यादव चुनाव लड़ सकते हैं।

इन दिनों समावादी पार्टी में खबरें जोर पकड़ रही हैं कि अखिलेश यादव मोदी को उन्हीं के गढ़ में चुनौती देने के लिए खड़े हो सकते हैं।

मोदी तो उन्हीं के गढ़ में हराने का पूरा खेल

बता दें कि मोदी को वाराणसी में घेरने के लिए बहुजन समाजवादी पार्टी के कुछ नेता भी ऐसा ही चाह रहे हैं।

ऐसे में अगर अखिलेश यादव वाराणसी से चुनाव लड़ने के लिए राजी होते हैं तो वे विपक्ष की ओर से साझा उम्मीदवार होंगे।

वहीं मोदी के लिए इसे सियासी मायनों से समझने की कोशिश करें तो संसक पहुंचने का रास्ता मोदी के लिए मुश्किल हो सकता है।

हालांकि इस मामले में अब तक अखिलेश यादव ने अपने विचारों को जाहिर नहीं किया है।

अखिलेश यादव देंगे मोदी को चुनौती

यह बात तो साफ है कि इस बार अखिलेश यादव किसी भी कीमत पर लोकसभा के चुनाव लड़ेंगे।

वहीं उत्तर प्रदेश में विधानसभा के चुनावों के लिए पूरे 4 साल का वक्त है। ऐसे में अखिलेश कहां से चुनावी मैदान पर उतरें, इस मामले पर ही फैसला नहीं हो पा रहा है।

अखिलेश यादव के एक करीबी जो कि समाजवादी पार्टी के साथ भी जुड़े हुए हैं, का कहना है,”अखिलेश जी अगर कन्नौज या मैनपुरी से चुनाव लड़ते है और जीत जाते हैं तो ये कोई बड़ी बात नहीं होगी। लेकिन अगर वे मोदी को हरा देते हैं तो देश की राजनीति बदल जाएगी।”

समाजवादी पार्टी के कुछ नेताओं का मानना है कि, अखिलेश ऐसे किसी क्षेत्र से चुनाव लड़ें, जिससे एक राजनैतिक संदेश पूरी सियासत और लोगों के बीच जाए। इसके लिए वाराणसी से बेहतर कोई जगह नहीं हो सकती है।

अखिलेश यादव के पत्ते खुलने का है सभी को इंतजार

मुलायम सिंह यादव इस बार आजमगढ़ के बदले मैनपुरी से चुनाव लड़ने का एलान कर चुके हैं। रामगोपाल यादव इस बार संभल क्षेत्र से चुनाव लड़ना चाह रेह हैं। मैनपुरी के सांसद तेज प्रताप यादव फिर कहां जायेंगे? समाजवादी पार्टी के सूत्र की मानें तो कन्नौज से तेज को टिकट मिल सकता है।

संभव यह भी है कि अखिलेश खुद वाराणसी या फिर किसी हाई प्रोफाइल जगह से चुनाव लड़ें, वैसे इस मामले पर अभी तस्वीर पूरी तरह से साफ नहीं हुई है। बीएसपी के एक राज्य सभा सांसद ने कहा,”अगर अखिलेश जी बनारस से लड़ते हैं तो फिर हम मोदी जी को वहीं घेरने में कामयाब हो सकते हैं। भले ही अखिलेश जी चुनाव जीते या हारें।”

पिछले विधानसभ चुनावों में यह रहा था पार्टियों का हाल

पिछले लोकसभा चुनाव 2014 में हुए थे। तब बीजेपी के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी को 4 लाख 81 हजार वोट मिले थे। मोदी को 56.37 प्रतिशत वोट मिले थे।

दूसरे नंबर पर आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल रहे थे। जिन्हें 2 लाख 9 हजार यानी 20.30 फीसदी वोट मिले थे।

कांग्रेस तीसरे, बीएसपी चौथे और समाजवादी पार्टी इन चुनावों पर पांचवें नंबर पर रही थी।

Viral in India Reporter

यह खबर वायरल इन इंडिया के वरिष्ट पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है| खबर में कोई त्रुटी होने पर हमें मेल के द्वारा संपर्क करें- [email protected]आप हमें इस फॉर्म से भी संपर्क कर सकते हैं, 2 घंटे में रिप्लाई दिया जायेगा |
Close