शेयर करें

सऊदी अरब जो कि एक खूबसूरत देश होने के साथ साथ अपनी खास नियम व कानूनों के लिए जाना जाता है। सऊदी की सियासत की बात करें तो हाल ही के समय में सऊदी सरकार ने अपनी आर्थिक स्थिति को बदलने के लिए कई बड़े बदलाव लिए हैं।

अब तक जो सऊदी सरकार पूरी तरह से अपने तेल भंडार व तेल कारोबार पर ही आधारित है।

जिसे बदलकर सऊदी सरकार अब नई इकॉनोमी और सऊदी के लोगों के लिए नई लाइफस्टाइल पैदा करने की कोशिश में है।

इन सबके बीच सऊदी अरब की सियासत में उस समय एक बड़ा मोड़ आया जब वहां के शहजादे प्रिंस मंसूर बिन मुरकिन की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई थी।

प्रिंस मंसूर बिन की मौत के साथ ही उनके साथ मौजूद अन्य अधिकारियों की भी मौत हो गई थी।

इस हादसे को सऊदी अरब की सियासत में एक बड़ी घटना के रुप में देखा जा रहा था, इसके बाद ही वहां भ्रष्टाचार में लिप्त होने को लेकर कई शहजादों और कारोबारियों को गिरफ्तार कर लिया गया था।

प्रिंस मंसूर बिन की मौत के बाद एक और शहजादे की मौत

हेलीकॉप्टर दुर्घटना का शिकार होने के दौरान प्रिंस मंसूर बिन की मौत के बाद सऊदी के लिए एक और बुरी खबर आई है।

किंग फहद के सबसे छोटे बेटे प्रिंस अब्दुल अजीज (44) की मौत हो गई है।

पूर्व क्राउन प्रिंस मुकरीन अल सउद बेटे मनसौर बिन मुकरीन की मौत के कुछ घंटे बाद ही एक और सऊदी प्रिंस की मौत की सूचना से ट्विटर पर भावनाओं का ज्वार उमड़ पड़ा है।

सऊदी रॉयल कोर्ट ने इस बात की पुष्टि की है कि 44 साल के प्रिंस अजीज किंग फहद के सबसे छोटे बेटे थे।

मिली जानकारी के मुताबिक, रविवार को उन्हें गिरफ्तार किया गया था।

प्रिंस अजीज की मौत की अफवाह तब शुरू हुई, जब ट्विटर पर कुछ प्रमाणिक अकाउंट से इस बारे में लिखा गया था।

कुछ खबरों के मुताबिक, इस गिरफ्तारी का विरोध करने के दौरान हुई गन फाइट में अजीज की मौत हो गई थी।

समाचार वेबसाइट TheDuran ने गन फाइट का जिक्र नहीं किया लेकिन लिखा है कि उनकी मौत गिरफ्तारी का विरोध करने के समय हो गई थी।

प्रिंस मनसौर बिन मुकरीन की मौत

प्रिंस मनसौर बिन मुकरीन सउद घराने से ताल्लुक रखते थे और पूर्व क्राउन प्रिंस मुकरीन अल सउद के बेटे थे।

प्रिंस मनसौर को दो पवित्र मस्जिदों के रखरखाव के लिए सलाहकार नियुक्त किया गया था।

मनसौर बिन मुकरीन सऊदी अरब के दक्षिणी प्रांत असीर के गवर्नर भी थे। सऊदी अरब के सरकारी टीवी चैनल अखबारिया के मुताबिक मुकरीन अपने कई सरकारी अधिकारियों के साथ ट्रैवल कर रहे थे, जब क्रैश के दौरान उनकी मौत हो गई।

इसके साथ ही गिरफ्तार किए गए लोगों में अलवलीद बिन तलाल भी शामिल हैं।

आपको बता दें कि तलाल दुनिया के सबसे अमीर शख्सों में से एक हैं, जिन्होंने कई बड़ी बड़ी कंपनियों में पैसा लगाया हुआ है।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें