क्या आप जानते हैं कि हर रेलवेे स्टेशन पर क्यों दी जाती है समुद्र तल से ऊंचाई की जानकारी?

शेयर करें

आप हम अक्सर ट्रेन में सफर करते रहते हैं और अब तो ट्रेन में सफर करना हमारी जिंदगी का हिस्सा बन गया है। दोस्तों जब आप रेलवे में सफर करते हैं तो आप रेलवे स्टेशन भी जरुर गए होंगे। क्या आपने कभी गौर किया है कि आप जब कभी भी किसी रेलवे स्टेशन पर होते हैं तो वहां कई तरह के जानकारी देने वाले बोर्ड व साइन बोर्ड लगे होते हैं, जिनका अपना एक मतलब होता हैं।

हर रेलवे स्टेशन पर नजर आने वाला यह बोर्ड

इसी तरह रेलवे की यात्रा के दौरान आप रेलवे स्टेशन पर जरुर देखा होगा वहां एक साइन बोर्ड और होता है, जिस पर स्टेशन का नाम लिखा होता है। स्टेशन का नाम लिखे होने के साथ साथ उस बोर्ड में समुद्र तल से ऊंचाई के बारे में भी जानकारी दी जाती है।

लेकिन क्या आपके मन में कभी यह सवाल आया है कि आखिर आखिर रेलवे स्टेशन के इस साइन बोर्ड पर नाम के साथ-साथ समुद्र तल से ऊंचाई के बारे में जानकारी क्यों दी जाती है? तो आइए हम आपको बतातें हैं कि आखिर यह क्यों लिखा जाता है। लेकिन दोस्तों उससे पहले आपका ये जानना जरुरी है कि समुद्र तल से ऊंचाई का मतलब क्या होता है ?

क्या होता है समुद्र तल से ऊंचाई का मतलब

हम सभी जानते हैं कि हमारी यह दुनिया यानी कि पृथ्वी गोल है और दुनिया की एक सामान ऊंचाई नापने के लिए वैज्ञानिकों को ऐसे पॉइंट की जरुरत पड़ती है, जो एक सामान रह सके। इसके लिए समुद्र से अच्छा कोई दूसरा विकल्प नहीं हो सकता। यही कारण है कि समुद्र का पानी एक सामान बना रहता है। इसी के साथ ही इसका इस्तेमाल सिविल इंजीनियरिंग में भी खासतौर से किया जाता है।

ड्राइवर और गार्ड को इस जानकारी से मिलती है मदद

अब आपको बताते हैं कि रेलवे स्टेशन के साइन बोर्ड पर समुद्र तल से ऊंचाई को क्यों दिखाया जाता है। दरअसल ये ऊंचाई रेल के ड्राईवर और गार्ड के लिए लिखी जाती है। इसकी वजह यहा है कि, मान लीजिये ट्रेन 100 मीटर समुद्र तल की ऊंचाई से ट्रेन 150 मीटर समुद्र तल की ऊंचाई पर जा रही है इस बात का अंदाजा लग पाता है।

बिजली के तारों को बिछाने में भी होती है मदद 

इस साइन बोर्ड को देखकर ही ड्राईवर को अंदाजा लग पाता है कि उसको किस हिसाब से ट्रेन के इंजन की स्पीड बढ़ानी है। इसके अलावा इसकी मदद से ट्रेन के ऊपर लगे बिजली के तारों को एक सामान ऊंचाई देने में भी आसानी रहती है। जिससे बिजली के तार ट्रेन के तारों से हर समय टच होते रहें।

Story Source : https://m.dailyhunt.in/news/india/hindi/azab+gazab-epaper-azabgaz/relave+steshan+bord+par+aakhir+kyo+likhi+jati+hai+samudr+tal+se+unchai-newsid-82029787


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े