शताब्दी एक्सप्रेस नहीं है किसी बुलेट ट्रेन से कम, दौड़ती है तेज़ रफ़्तार से, जाने

शताब्दी एक्सप्रेस है भारत की शानदार ट्रेन

शताब्दी एक्सप्रेस, ऐसी ट्रेन है जो भारत में सबसे रफ्तार से चलने वाली ट्रेन के तौर पर मशहूर है। भारत में व्यापारी वर्ग द्वारा सबसे ज्यादा शताब्दी में सफर किया जाता है, क्योंकि ये नॉन-स्टॉप चलती है और आपको मंजिल तक जल्दी पहुंचा देती है। शताब्दी भारत के बड़े, महत्वपूर्ण और व्यवसायिक शहरों को आपस में जोड़ती है। शताब्दी एक्सप्रेस का परिचालन दिन के समय होता है और ये अपनी डेस्टिनेशन की यात्रा एक दिन में ही पूरी कर लेती हैं।

1.  130 किमी/घंटा की स्पीड से चलती है शताब्दी एक्सप्रेस

शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन भारत की सबसे तेज चलने वाली रेलगाडी़ है और इसकी औसत गति से लगभग 130 किमी/घंटा है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि नई दिल्ली-भोपाल शताब्दी की गति नई दिल्ली और आगरा स्टेशनों के बीच लगभग 150 किमी/घंटा है जो भारत में सबसे ज्यादा रफ्तार है। इसमें यात्रियों को मिलने वाली सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

इसका किराया लगभग 2 हजार है। लेकिन इसमें सफर करना इतना शानदार होता है की आपका ट्रेन से उतरने का मन नहीं करेगा। आपको इसमें खाना भी मिलता है।

2. शानदार होता है शताब्दी का सफर

शताब्दी एक्सप्रेस मे यात्रियों को नाश्ता/ भोजन, कॉफी / चाय, फलों का रस आदि परोसा जाता है साथ ही एक लीटर पानी की बोतल भी दी जाती है। इस पैकेज्ड वाटर को रेलवे द्वारा ही प्रोडूस किया जाता है। जिसे नाम दिया है रेल नीर” शताब्दी में सफर करने वालों को यही पानी दिया जाता है।

3. सबसे तेज ट्रेन हैं शताब्दी एक्सप्रेस

शताब्दी एक्सप्रेस का एक वर्जन है, जिसे स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस के नाम से जाना जाता है। यह गाडी़ भारतीय रेल द्वारा चलाई गई सबसे शानदार ट्रेन मानी जाती है। भारतीय रेल ने बाद मे शताब्दी एक्सप्रेस का एक बिना एसी और कम किराए वाली एक ट्रेन शुरु की जिसे जन शताब्दी के नाम से जाना जाता है।

4. नई दिल्ली से ही चलती हैं 8 ट्रेने

शताब्दी एक्सप्रेस की 12 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन करती है, जिसमें से 8 नई दिल्ली से शुरु होती हैं (2 भोपाल, लखनऊ के लिए, 2 अमृतसर के लिए, 2 कालका, अजमेर और देहरादून के लिए), चेन्नई से 2 (बंगलोर और मैसूर के लिए) और एक कोलकाता से (रांची के लिए) और एक मुंबई-अहमदाबाद के लिए चलती हैं।

5. कम हो सकता है किराया

हाल ही में भारतीय रेलवे देश में चलने वाली प्रीमियम शताब्दी ट्रेनों का किराया कम कर सकती है। संसाधनों का पूरी तरह से उपयोग करने के लिए रेलवे ऐसे रूट पर चलने वाली शताब्दी ट्रेनों का किराया कम करने पर पर विचार कर रहा है जिसमें यात्रियों की संख्या कम होती है। अगर ऐसा होता है तो यात्रियों के लिए ये बहुत बड़ी खुशखबरी होगी।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Close