अभी-अभी:- रेलवे ने बदला नियम, यात्रियों में मच गया हड़कंप

शेयर करें

यात्रा करना आज हर किसी की जिंदगी का हिस्सा है. हम कहीं भी आने जाने के लिए आए दिन सफर करते है.

ऐसे में जब भी बात लम्बे सफर की आती है तो भारत जैसे देश में हर आम नागरिक हवाई यात्रा का खर्चा नहीं उठा पाता.

इसलिए यहाँ रेलवे आज लोगों के जीवन का बेहद महत्वपूर्ण साधन बन चली है.

रेल सफ़र के दौरान यात्रियों को आती हैं कई दिक्कत


आज जब भी भारत में कहीं भी सफर करने की बात आती है तो ट्रेन ही सभी लोगों की पहली पसंद होती है, क्योंकि इसकी मदद से कोई भी कम किराए के साथ लंबी दूरी का सफर भी कर सकता है

लेकिन वक्त के साथ यात्रियों के लिए रेल में सफर करना एक बड़ी मुसीबत बनता जा रहा है.

जैसा सभी जानते हैं कि रेलवे में कंफर्म टिकट मिलना आज के समय में बेहद मुश्किल है.

ऐसे में जब आप कभी अपना कंफर्म टिकट कैंसिल करते हैं तो उसके लिए भी आपको रेलवे का कैंसिलेशन चार्ज चुकाना होता है.

कंफर्म टिकट के लिए रेलवे का नया नियम


ऐसे में अगर कंफर्म टिकट कैंसिल हो जाए और आप किसी कारणवश सफर नहीं कर पा रहे हैं तो अब आपके लिए एक बेहतर विकल्प आ गया है.

जी हाँ नए नियम के अनुसार अब आप अपना कंफर्म टिकट सफर न कर पाने की स्थिति में किसी ओर को ट्रांसफर कर सकते हैं.

ये नया नियम भारतीय रेल लेकर आई हैं जिसमें आप अपना कंफर्म रि‍जर्वेशन टिकट किसी ओर को ट्रांसफर कर सकते हैं.

अब कोई भी यात्री ट्रांसफर कर सकता हैं कंफर्म टिकट

जानकारी के लिए बता दें कि रेलवे के नए नियम के मुताबिक अब आप अपना कंफर्म रिजर्वेशन टिकट किसी और को ट्रांसफर कर उसे अपनी सीट पर सफर करने का मौका दे सकते है.

लेकिन इसके लिए आपको रेलवे की कुछ शर्तों का पालन करना होगा, जिसके बाद ही आप अपनी टिकट को कैंसिल कराने के बजाए उसे दूसरे के नाम पर ट्रांसफर कर सकेंगे.

कैसे करें दूसरे के नाम पर अपना टिकट ट्रांसफर..!


दोस्तों अगर आप अपना कंफर्म टिकट किसी दूसरे के नाम पर ट्रांसफर करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर्स को एक आवेदन देना अनिवार्य होगा.

ऐसे में अगर आप सरकारी अफसर है तो आप ट्रेन खुलने से 24 घंटे पहले रिजर्वेशन ट्रांसफर के लिए लिखित आवेदन दे सकते हैं.

ट्रांसफर करते वक्त माननी होगी ये शर्ते..!


रेलवे के नए नियम के मुताबिक आप अपना रिजर्वेशन केवल अपने परिवार के सदस्य को ही ट्रांसफर कर सकते हैं.

जैसे की मां, पिता, भाई, बहन, बेटा, बेटी, पति और पत्‍नी.

इसके अलावा आप किसी तीसरे शख्स को अपना कंफर्म टिकट ट्रांसफर नहीं कर सकते हैं.

छात्रों के लिए भी बना ख़ास नियम

नियम के अनुसार अगर कोई छात्र अपने कंफर्म टिकट पर सफर नहीं कर पा रहा है तो वो अपना कंफर्म टिकट किसी दूसरे छात्र को ही ट्रांसफर कर सकता है.

लेकिन इस प्रक्रिया के लिए उसे ट्रेन खुलने से लगभग 48 घंटे पहले आवेदन करना होगा.

वहीं अगर आप किसी ग्रुप में सफर कर रहे हैं और आपका किसी कारण जाना कैंसिल हो गया हो तो आप 48 घंटे पहले आवेदन कर किसी दूसरे के नाम टिकट ट्रांसफर कर सकते है.

निष्कर्ष


रेलवे के इस नए नियम के बाद अब यात्रियों को थोड़ी सहुलियत जरुर मिलेगी. जहाँ उन्हें पहले अपना टिकट कैंसिल करने पर अतिरिक्त चार्ज देना होता था वहीं अब यात्री इस नियम के अंतर्गत अपना टिकट किसी दुसरे यात्री को कुछ शर्तों के साथ ट्रान्सफर कर सकेंगे.


शेयर करें